Covid-19 Update

1,99,467
मामले (हिमाचल)
1,92,819
मरीज ठीक हुए
3,404
मौत
29,685,946
मामले (भारत)
177,559,790
मामले (दुनिया)
×

#Breaking : हिमाचल में #MBBS के साथ-साथ नर्सिंग कॉलेजों की कक्षाएं पहली दिसंबर से

प्रथम वर्ष और अंतिम वर्ष की कक्षाएं पहले दिन से लगेगी जबकि अन्य की कक्षाएं सात दिन बाद शुरू होंगी

#Breaking : हिमाचल में #MBBS के साथ-साथ नर्सिंग कॉलेजों की कक्षाएं पहली दिसंबर से

- Advertisement -

लेखराज धरटा/शिमला। केंद्र सरकार की गाइडलाइंस (Guidelines) के मुताबिक हिमाचल में सभी मेडिकल कॉलेजों में एमबीबीएस ( MBBS) के साथ-साथ नर्सिंग कॉलेजों (Nursing colleges) में पहली दिसंबर से कक्षाएं ( Classes) शुरू कर दी जाएगी। प्रथम वर्ष और अंतिम वर्ष की कक्षाएं पहले दिन से लगेगी जबकि अन्य की कक्षाएं सात दिन बाद शुरू होंगी। छात्रों को कोविड टेस्ट ( Covid test) करवाना होगा साथ ही अभिभावकों का अनुमति पत्र भी जरूरी होगा। यह बात मीडिया से बातचीत के दौरान स्वास्थ्य सचिव अमिताभ अवस्थी ( Health Secretary Amitabh Awasthi) ने कही। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार छह मेडिकल कॉलेजों में जनवरी में ऑक्सीजन प्लांट ( Oxygen plant) लगाने के लिए 8 करोड़ की दे रही है। इसके अलावा कोरोना काल में स्वास्थ्य के क्षेत्र में को भी खामियां सामने आई हैं उनको दूर किया जाएगा।

ये भी पढे़ं – केंद्र ने पहली दिसंबर से दिए सभी Medical Colleges खोलने के निर्देश, करना होगा ये जरूरी काम

 


नेताओं व त्योहारों के चलते बढ़े कोरोना के मामले

स्वास्थ्य सचिव ने कहा कि प्रदेश में कोरोना के मामले बढ़ने का कारण राजनीतिक दलों का रैलियों के साथ शादियां व त्योहार भी रहे। कैबिनेट में भी इस विषय पर चर्चा की गई। जिसमें राजनेताओं पर भी ये नियम सख्ती से लागू रहेगा कि वे ज्यादा भीड़ एकत्र न होने दें। कोरोना के अलावा भी कई बीमारियों के मरीजों को जो स्वास्थ्य सेवाएं नहीं मिल पा रही है उसे लेकर भी सरकार गम्भीर है। सरकार ने सख्त आदेश दिए हैं कि जल्द ऐसी कोताही पर बड़ी कार्रवाई भी की जा सकती है।
सर्दियो में मौसम की दिक्कतों को देखते हुए सरकार युद्धस्तर प्रयास कर रही है। मेकशिफ्ट अस्पताल बनाने पर भी सरकार अलग से काम कर रही है। मेक शिफ्ट( Make shift) के तहत प्रदेश के तीन स्थानों पर ऐसी व्यवस्था की जाएगी।

 

 

कोताही पर लिया जाएगा एक्शन

  • स्वास्थ्य सचिव ने कहा कि प्रदेश में टेस्टिंग की संख्या को भी बढ़ाया जा रहा है।
  • सरकार चाहती है कि ज्यादा से ज्यादा टेस्ट किए जाए ताकि ज्यादा लोगों तक पहुंचा जा सके।
  • प्रदेश के अलग अलग संवेदनशील स्थानों पर अस्पताल के लिए 250 से ज्यादा स्टाफ, जिसमें लैब तकनीशियन, नर्सिंग स्टाफ और डॉक्टरों को भी नियुक्ति की जा रही है।

इसके साथ ही प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाओं में किसी तरह की कमी नहीं आने दी जाएगी। उन्होंने कहा कि अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी की शिकायतों को देखते हुए धर्मशाला जोनल अस्पताल में ज्यादा मरीज आने को वजह से थोड़ी दिक्कतें पेश आई थी लेकिन समय रह्ते उसे दुरुस्त किया गया। जबकि शिमला के डीडीयू में आक्सीजन की सप्लाई दे रही गाड़ी के दुर्घटनाग्रस्त होने की वजह से सप्लाई देरी से पहुंची। शिमला में भी कुछ समस्याओं को तरफ ध्यान दिया जा रहा है। एक मरीज का वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें उसे ठंड से कांपते हुए देखा जा सकता है। इस वीडियो की सट्टाई यह है कि मरीज दो एम्बुलेंस में शिफ्ट में देरी हुई जिसके चलते उसे परेशानी का सामना करना पड़ा था। सरकार ने इसे गम्भीरता से लिया और इसकी जांच के साथ इसकी खामियां जो भी रही है, उन्हें दूर करने को बोला गया है।

 

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है