Covid-19 Update

2,27,483
मामले (हिमाचल)
2,22,831
मरीज ठीक हुए
3,835
मौत
34,624,360
मामले (भारत)
265,482,381
मामले (दुनिया)

हार के बाद जागी सरकार, सीएम जयराम बोले, कोर्ट में लंबित मामलों से रूकी नियुक्तियां

सीएम जयराम ने कोर्ट में लंबित मामलों पर एडवोकेट जनरल से की मुलाकात, स्कूलों पर भी कही बड़ी बात

हार के बाद जागी सरकार, सीएम जयराम बोले, कोर्ट में लंबित मामलों से रूकी नियुक्तियां

- Advertisement -

शिमला। हिमाचल में एक लोकसभा और तीन विधानसभा की सीटें हारने के बाद अब प्रदेश सरकार एक्शन मोड में आ गई है। प्रदेश सरकार ने जनहित मुद्दों पर गौर करना शुरू कर दिया है। सीएम जयराम ठाकुर (CM Jai Ram Thakur) ने प्रदेश के सभी विभागों में बेहतर समन्वय बनाए रखने की आवश्यकता पर बल दिया है ताकि, विभिन्न न्यायालयों में चल रहे मामलों को शीघ्र सुलझाया जा सके तथा प्रदेश में विकासात्मक गतिविधियां निर्बाध रूप से चलती रहे। सीएम जयराम आज यहां अदालतों में लंबित पड़े मामलों  के दृष्टिगत प्रशासनिक सचिवों और महाधिवक्ता के साथ आयोजित बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे।

सीएम जयराम ने कहा कि राज्य सरकार ने एक लिटिगेशन मॉनिटरिंग सॉफ्टवेयर विकसित किया है और इस सॉफ्टवेयर में सभी अदालती मामले दर्ज किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि महत्वकांक्षी परियोजनाओं से सम्बन्धित और प्रमुखता वाले मामलों को विशेष प्राथमिकता दी जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि प्रशासनिक सचिवों को महाधिवक्ता के कार्यालय के साथ समन्वय स्थापित करना चाहिए ताकि अदालतों में मामलों को शीघ्र सुलझाया जा सके। जय राम ठाकुर ने कहा कि जेओए आईटीए जेबीटी इत्यादि से संबंधित अदालती मामलों में तेजी लाई जानी चाहिएए क्योंकि इससे हजारों युवा लाभान्वित होंगे। उन्होंने कहा कि इन भर्तियों पर लगी रोक को हटाने के प्रयास किए जाने चाहिए। उन्होंने माननीय न्यायालयों से इन मामलों को सुलझाने का अनुरोध किया।

 

 

सीएम जयराम ने कहा कि विभिन्न स्वीकृतियों और अदालतों में लम्बित मामलों के कारण कई विकासात्मक परियोजनाओं में विलम्ब हुआ है। उन्होंने विभिन्न न्यायालयों में स्वीकृति प्राप्त करने सम्बन्धी मामलों में अधिकारियों को सक्रिय रूप से कार्य करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि इससे न केवल आम लोगों को लाभ होगा बल्कि परियोजना संबंधी लागत से भी बचा जा सकेगा। उन्होंने विभिन्न लंबित मामलों की निगरानी के लिए नियमित बैठकों का आयोजन करने के भी निर्देश दिए। मुख्य सचिव राम सुभग सिंह ने सीएम जयराम को आश्वासन दिया कि राज्य सरकार की आकांक्षाओं और अपेक्षाओं को पूरा करने के लिए सम्बन्धित अधिकारी और अधिक समन्वय और समर्पण भाव से कार्य करेंगे।

यह भी पढ़ें: हिमाचलः फतेहपुर बीजेपी में कुछ तो गड़बड़ है, अब इस पदाधिकारी ने उठाए सवाल और लिया संन्यास

वहीं, स्कूल खुलने पर सीएम जयराम ठाकुर ने कहा कि देश भर में करीब करीब स्कूल (School) खुल गए हैं। बच्चों का भविष्य खराब हो रहा है। इसके अलावा स्कूली बच्चों के परिजनों की भी काफी समय से मांग थी की अब स्कूल खोल देने चाहिए। इसी के चलते स्कूल खोलने का फैसला लिया गया है। उन्होंने कहा कि अब प्रदेश में कोरोना मामलों में भी कमी आने लगी है। वहीं एक्टिव केस भी कम हो रहे हैं। ऐसे में सरकार ने कल से तीसरी से सातवीं की कक्षाओं के बच्चों को स्कूल बुलाने का फैसला लिया है। जबकि पहली से तीसरी कक्षा के बच्चों को 15 से स्कूल बुलाने का निर्णय लिया है। सीएम जयराम ठाकुर ने न्यू पेंशन स्कीम (New Pension Scheme) पर बात करते हुए कहा कि इस पर जेसीसी की बैठक में चर्चा की जाएगी। उन्होंने बताया कि जल्द ही जेसीसी की बैठक होगी जिसमें न्यू पेंशन स्कीम पर बात की जाएगी और उनकी मांगों का कोई हल निकाला जाएगा।

 

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है