राठौर का तंज, सरकारी पैसे की बर्बादी कर रो रहे मगरमच्छ के आंसू

कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष ने घेरी जयराम सरकार

राठौर का तंज, सरकारी पैसे की बर्बादी कर रो रहे मगरमच्छ के आंसू

- Advertisement -

शिमला। सीएम जयराम ठाकुर (CM Jairam Thakur ) सरकारी तंत्र का दुरुपयोग और सरकारी धन को पानी की तरह बहा रहे हैं। कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर (Kuldeep Singh Rathour) ने सीएम से कहा कि वह मंडी रैली का खर्चा सार्वजनिक करें और उसमें बीजेपी (BJP) का कितना खर्चा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश पर बढ़ता कर्ज आज इस बात को साफ इंगित करता है कि सरकार की फिजूलखर्ची के चलते प्रदेश में आय के साधन उतपन्न करने में पूरी तरह विफल साबित हुई है। डबल इंजन का दावा करने वाली जयराम सरकार को केंद्र से एक पैसे की भी कोई विशेष मदद नहीं मिल रही है।


पीएम ने कांग्रेस की योजनाओं का किया शिलान्यास-उद्घाटन

राठौर ने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी (PM narender Modi) की रैली से प्रदेश के लोग पूरी तरह निराश है। पीएम ने प्रदेश को कोई सौगात नहीं दी। उन्होंने केवल उन योजनाओं का शिलान्यास व उद्घाटन कियाए जो पूर्व कांग्रेस सरकार की योजनाएं थी। राठौर ने सीएम को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि वह अपनी विफलताओं व अकुशलता को छिपाने के लिए लोगों को गुमराह करने का असफल प्रयास कर रहें है। उन्होंने कहा कि हॉल ही के चार उप चुनावों में मिली करारी हार के बाद सीएम सहित बीजेपी के नेता पूरी तरह सदमे में है।

यह भी पढ़ें: साल के पहले दिन, राठौर लेकर आ रहे हैं एक कैलेंडर- क्या है खास पढ़ें ये रपट

मंहगाई पर मगरमच्छ के आंसू बहा रही बीजेपी

कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप राठौर ने सरकार के उस दावे को भी पूरी तरह खारिज कर दिया हैए जिसमें उन्होंने प्रदेश को पूरी तरह धुंआ मुक्त करने और उज्ज्वला गृहिणी योजना का लक्ष्य हासिल करने की बात कही है। उन्होंने कहा है कि आज एलपीजी (LPG) सिलेंडर के दाम इतने बढ़ गए है कि अब इसकी खरीद करना आम लोगों के वस से बाहर हो रही है, जबकि गरीब लोग अब फिर से लकड़ियां व चूल्हा जलाने पर मजबूर होते जा रहे हैं।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस के समय एक सिलेंडर की कीमत 350 रुपए के आसपास होती थी तो भाजपा के नेता आए दिनों हाय तौबा करते थे, आज जब इसकी कीमत एक हजार हो गई है तो उनकी जुबान नहीं खुल रही। उन्होंने कहा कि महंगाई के नाम पर मगरमच्छ के आंसू बहाने वाली बीजेपी देश के लोगों को गुमराह करती आई है। लोगों ने अब इसे सत्ता से बाहर करने का पूरा मन बना लिया है। इसकी शुरुआत प्रदेश के चार उपचुनावों से शुरू हो गई है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

 

- Advertisement -

loading...
Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




×
सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है