Covid-19 Update

3,04, 629
मामले (हिमाचल)
2,95, 385
मरीज ठीक हुए
4154
मौत
44,126,994
मामले (भारत)
589,215,995
मामले (दुनिया)

हिमाचल: भूस्खलन से गिरे भारी-भरकम पत्थरों ने उजाड़ दिया गरीब का आशियाना, भाग कर बचाई जान

एक पक्का कमरा और शौचालय क्षतिग्रस्त, मूसलाधार बारिश होने से अचानक हुई लैंडस्लाइडिंग

हिमाचल: भूस्खलन से गिरे भारी-भरकम पत्थरों ने उजाड़ दिया गरीब का आशियाना, भाग कर बचाई जान

- Advertisement -

कुल्लू। हिमाचल के कुल्लू जिला के शैंशर पंचायत के पटाहरा गांव में वीरवार रात मूसलाधार बारिश हुई। इस कारण भूस्खलन होने बड़े-बड़े पत्थर गांव के बीचों-बीच आकर गिर गए। भूस्खलन (Landsliding) से गिरे इन पत्थरों ने एक गरीब परिवार से संबंध रखने वाले हीरालाल शर्मा (Hiralal Sharma) के मकान को क्षतिग्रस्त कर दिया है। मजबूर हीरालाल को परिवार सहित किसी दूसरे के घर में रात गुजारनी पड़ी। इन भारी-भरकम पत्थरों के कारण हीरालाल शर्मा का एक कमरा और शौचालय (toilet) पूरी तरह से नष्ट हो गया है। उन्होंने बताया कि इस कमरे में लकड़ी के बैडए साल भर का राशन रखा हुआ था। रात को हुए भूस्खलन से सीमेंट का बना पक्का कमरा व शौचालय पूरी तरह तहस.नहस हो गया है।

यह भी पढ़ें:हिमाचल में तीन दिन हो सकती है भारी बारिश, नदी-नालों की ओर ना जाने की चेतावनी

ढलानदार जगह होने के कारण यहां अभी भी पत्थरों के गिरने का खतरा बना हुआ है जिससे हीरालाल व लीलाधर शर्मा (Leeladhar Sharma) का मकान भी खतरे की जद में है । बता दें कि हीरालाल शर्मा अपनी पत्नी दो बेटों, एक बहू व पोते सहित कुल छह सदस्य इस मकान में रहते थे तथा खेती बाड़ी से अपना गुजारा चलाते थे।हीरा लाल का पूरा परिवार लकड़ी के मकान में रह रहा था। करीब 5 वर्ष पूर्व उन्होंने बड़ी मुश्किल से अपने घर के साथ में ही सीमेंट का कमरा तैयार किया था। इसमें शौचालय व बाथरूम बनाए गए थे। लेकिन देर रात हुए भूस्खलन से यह पूरा कमरा व शौचालय क्षतिग्रस्त हो गया।

पत्थर इतने बड़े.बड़े थे कि पूरे कमरे का लेंटर ही एक तरफ गिर गया और दीवारें भी क्षतिग्रस्त हो गईं। गनीमत यह रही कि इसमें किसी तरह का जानी नुकसान नहीं हुआ है। पूरा परिवार को लकड़ी के मकान में रहना भी खतरे से खाली नहीं है। पंचायत प्रधान मथुरा देवी, उपप्रधान रोशन लाल (Roshan Lal) तथा वार्ड सदस्या फूला देवी ने कहा कि हीरालाल का काफी नुकसान हुआ तथा पूरे परिवार को रात को ही दूसरे के घर में शिफ्ट किया गया ।

पंचायत प्रतिनिधियों ने कहा कि हीरालाल व साथ लगते अन्य घरों को खतरा पैदा हो गया है। इसकी सूचना प्रशासन को दे दी गई है। उधर दोपहर बाद बंजार (Banjar) के विधायक सुरेंद्र शौरी ने भी पटाहरा गांव का दौरा किया तथा प्रभावित परिवारों को हर संभव सहायता का आश्वासन दिया उन्होंने प्रशासन को निर्देश देते हुए कहा कि घटना संभावित क्षेत्र में सुरक्षा की दृष्टि से हरसंभव प्रयास किए जाएं। विधायक ने साथ ही रोड ठीक करने के निर्देश भी दिए हैं।

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

 

 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है