Covid-19 Update

1,99,740
मामले (हिमाचल)
1,93,403
मरीज ठीक हुए
3,411
मौत
29,762,793
मामले (भारत)
178,254,136
मामले (दुनिया)
×

DLED /JBT प्रशिक्षित बेरोजगार संघ ने अपने से हो रहे अन्याय बाबत CM Jai Ram को बताया

DLED /JBT प्रशिक्षित बेरोजगार संघ ने अपने से हो रहे अन्याय बाबत CM Jai Ram को बताया

- Advertisement -

शिमला। डीएलएड/ जेबीटी (DLED /JBT) प्रशिक्षित बेरोजगार संघ ने सीएम जयराम ठाकुर (CM Jai Ram Thakur) से मुलाकात कर गुहार लगाई है कि जल्द से जल्द सरकार जेबीटी के हित में रिप्लाई देकर उन्हें कोर्ट से आज़ाद करें। संघ ने जेबीटी प्रशिक्षण प्राप्त कर चुके अभ्यर्थियों के साथ हो रहे अनदेखी व अन्याय के बारे में भी सीएम को बताया। उन्होंने कहा कि लगभग पिछले 18 माह से ट्रिब्यूनल व हाईकोर्ट द्वारा हिमाचल सरकार से इस बारे में रिप्लाई मांगा गया पर हर बार एनसीटीई (NCTE)का हवाला देकर सरकार ने हमें अनदेखा किया है।


ये भी पढ़ें: डीएलएड/ जेबीटी प्रशिक्षित बेरोजगार संघ ने अपने से हो रहे अन्याय बाबत विधायक Arun Mehra को बताया

 


संघ ने शिमला सचिवालय के कितने ही चक्कर काटे पर अभी तक उन्हें सिर्फ निराशा ही हाथ लगी है। इसलिए संघ ने अब सीएम जयराम से गुजारिश की वे जल्द से जल्द कोर्ट में जेबीटी के हित में रिप्लाई दें ताकि हजारों की तादाद में प्रशिक्षण प्राप्त कर चुके प्रशिक्षार्थी प्राथमिक स्कूलों में सेवाएं दे सकें व अपने घर का चूल्हा चौक भी अच्छे से चला सकें। सीएम से मिले प्रतिनिधिमंडल में संघ के प्रदेशाध्यक्ष अभिषेक ठाकुर,महासचिव मोहित ठाकुर उपप्रधान पवन कुमार सहित अन्य मौजूद रहे।

ये भी पढ़ें: जब पाठ्यक्रम ही अलग तो डीएलएड में B.Ed. को कैसे किया जा सकता है शामिल

दिल्ली, बिहार, मध्य प्रदेश, पश्चिम बंगाल सहित अन्य राज्यों में भी डीएलएड/ जेबीटी को प्राथमिकता दी गई है। एनसीटीई (NCTE) की 2018 की अधिसूचना के अनुसार डीएलएड/ जेबीटी के स्थान पर लगाने की बात की गई थी, जहां डीएलएड/ जेबीटी की संख्या कम तथा प्राथमिक अध्यापकों की मांग अधिक थी, लेकिन हिमाचल में ऐसी स्थिति नहीं है। यहां लगभग 20,000 से 22,000 प्रशिक्षु प्रशिक्षित हैं। डीएलएड/ जेबीटी प्रशिक्षित बेरोजगार संघ ने प्रदेश सरकार से अनुरोध किया है कि वो डीएलएड/ जेबीटी के पक्ष में दिशा निर्देश जारी करे। इसके लिए डीएलएड/ जेबीटी प्रशिक्षित बेरोजगार संघ आपका आजीवन आभारी रहेगा।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है