Covid-19 Update

2,86,905
मामले (हिमाचल)
2,81,942
मरीज ठीक हुए
4122
मौत
43,568,884
मामले (भारत)
557,704,858
मामले (दुनिया)

डीवाईएफआई का आरोप सरकार अपने चहेतों को नौकरी देने के लिए करवा रही पेपर लीक

भारत की जनवादी नौजवान सभा ने मंडी में किया विरोध प्रदर्शनए लगाए नारे रखी ये मांग

डीवाईएफआई का आरोप सरकार अपने चहेतों को नौकरी देने के लिए करवा रही पेपर लीक

- Advertisement -

मंडी। हिमाचल प्रदेश पुलिस भर्ती व हिमाचल प्रदेश यूनिवर्सिटी यूजी प्रथम और द्वितीय वर्ष की परीक्षा पेपर लीक मामले (Exam Paper Leak Case) पर प्रदेश सरकार के खिलाफ लगातार प्रदर्शन (Protest) जारी हैं। इसी कड़ी में शनिवार को भारत की जनवादी नौजवान सभा द्वारा मंडी जिला मुख्यालय पर प्रदेश सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की गई और ऐसे मामलों की निष्पक्ष जांच करवाने के लिए जिला प्रशासन के माध्यम से राज्यपाल को एक ज्ञापन भी प्रेषित किया। इस मौके पर भारत की जनवादी नौजवान सभा ने प्रदेश सरकार पर नौजवानों के साथ खिलवाड़ करने के भी गंभीर आरोप लगाए। नौजवान सभा का कहना है कि मौजूदा समय में बीजेपी की जयराम सरकार (Jairam Govt) के कार्यकाल में जितनी भी परीक्षाएं हो रही हैं उन में अनियमितताएं पाई जा रही हैं। जिस कारण प्रदेश के लाखों युवाओं में असंतोष बढ़ रहा है। पुलिस भर्ती पेपर लीक मामले में अभी तक हुई जांच से यही साबित होता है कि करोड़ों रुपए का लेनदेन हुआ है और अपने चहेतों को नौकरियां देने की कोशिश की गई है।

यह भी पढ़ें:पुलिस भर्ती पेपर लीक मामला: अर्की क्षेत्र के अभ्यर्थियों से पैसे लेने वाला आरोपी हुआ अंडरग्राउंड

इस मौके पर भारत की जनवादी नौजवान सभा राज्य अध्यक्ष सुरेश सरवाल ने कहा कि सरकारी नौकरी (Govt Jobs)के नाम पर युवाओं के साथ मजाक किया जा रहा है और आम लोगों को सरकारी नौकरी से महरूम रखने की कोशिश की जा रही है। दूसरी तरफ प्रदेश में यूजी कक्षाओं के प्रथम और द्वितीय वर्ष की वार्षिक परीक्षाओं में प्रश्न पत्र लीक का भी मामला सामने आ रहा है जो भी चिंता का विषय है। हिमाचल प्रदेश पढ़ाई के लिए जाना जाता है मगर पिछले कुछ समय से महाविद्यालयों में भी प्रश्न पत्र लीक हो रहे हैं। जिस कारण प्रदेश की छवि धूमिल हो रही है। प्रदेश के 22 कॉलेजों में प्रश्नपत्र का लीक होना यह दर्शाता है कि मौजूदा सरकार के कार्यकाल में शिक्षा की क्या व्यवस्था है।

यह भी पढ़ें:पेपर लीक मामला: यूकां और पुलिस में झड़प, बोले- असल दोषियों को नहीं पकड़ रही सरकार

उन्होंने कहा कि धरना प्रदर्शन के माध्यम से नौजवान सभा पेपर लीक मामले की न्यायिक जांच और दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग उठा रही है। इसके साथ ही नौजवान सभा ने पुलिस पेपर लीक मामले की जांच उच्च न्यायालय की देखरेख में पीठासीन जज से करवाने व प्रदेश में भर्ती प्रक्रिया को स्वतंत्र और निष्पक्ष रुप से करवाने के लिए सभी भर्तियों को लोक सेवा आयोग व चयन बोर्ड हमीरपुर के तहत करवाने की भी मांग रखी। वहीं डीवाईएफआई (डेमोक्रेटिक यूथ फेडरेशन ऑफ इंडिया) का कहना है कि भविष्य में महाविद्यालयों में वार्षिक परीक्षाओं के पेपर सीसीटीवी (CCTV) कैमरे की निगरानी में करवाए जाएं। पेपर की सील भी सीसीटीवी कैमरे की निगरानी में खोली जाए, जिसकी वीडियोग्राफी हो और हर प्रश्न पत्र में पहले की तरह सील लगाई जाए ताकि इस प्रकार की धांधलियों पर विराम लगाया जा सके।

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group… 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है