Covid-19 Update

1,64,355
मामले (हिमाचल)
1,28,982
मरीज ठीक हुए
2432
मौत
25,227,970
मामले (भारत)
164,275,753
मामले (दुनिया)
×

केंद्र सरकार व किसानों के बीच आठवें दौर की वार्ता भी बेनतीजा, अगली बैठक 15 January को

11 जनवरी को बैठक करेंगे किसान संगठन, 26 जनवरी को किसानों की परेड तय

केंद्र सरकार व किसानों के बीच आठवें दौर की वार्ता भी बेनतीजा, अगली बैठक 15 January को

- Advertisement -

नई दिल्ली। नए कृषि कानूनों को लेकर किसानों का आंदोलन आज 44 वें दिन भी खत्म नहीं हो पाया। विज्ञान भवन में हुई केंद्र सरकार और किसान नेताओं (Central government and Kisan leaders) के बीच आठवें दौर की वार्ता आज भी बेनती जा रही। अब अगली बैठक 15 जनवरी के बाद होगी। कृषि मंत्री ने आज की वार्ता में समाधान निकलने की उम्मीद जताई थी लेकिन ऐसा कुछ नहीं हो पाया। बैठक (Meeting) में केंद्र सरकार की ओर कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर और केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल मौजूद रहे। बैठक से ठीक पहले दोनों ने गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की थी। प्रदर्शनकारी किसान अभी भी अपने जिद पर अड़े हैं।


किसान नेताओं संग बैठक से पहले कृषि मंत्री तोमर (Agriculture Minister Narendra Tomar) ने साफ कर दिया है कि कानून वापसी के मुद्दे को छोड़कर सरकार हर मुद्दे पर बातचीत को तैयार है। ऐसे में आज होने वाली बैठक का परिणाम काफी अहम हो जाता है। इस बीच बाबा लक्खा सिंह ने किसानों और सरकार के बीच मध्यस्थता की पेशकश करते हुए कहा है कि नया प्रस्ताव लाएंगे।

आज की बैठक में सरकार ने किसानों को कमेटी बनाने का प्रस्ताव दिया। बैठक के बाद किसान नेता हनान मुला ने कहा कि कृषि कानून किसान विरोधी हैं। 11 जनवरी को किसान संगठनों की बैठक होगी। किसान नेता हनान मुला ने कहा कि हम कानून वापसी के अलावा कुछ और नहीं चाहते। हम कोर्ट नहीं जाएंगे। कानून वापस होने तक हमारी लड़ाई जारी रहेगी। उन्होंने कहा कि 26 जनवरी को तय कार्यक्रम के मुताबिक हमारी परेड होगी।\

यह भी पढ़ें: Farmers Protest में शामिल दादी पर ट्वीट करना #Kangana को पड़ा भारी, बुजुर्ग ने दर्ज करवाया केस

किसान नेताओं से मुलाकात के बाद केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि आज किसान यूनियन (Farmers union) के साथ तीनों कृषि कानूनों पर चर्चा होती रही परन्तु कोई समाधान नहीं निकला। सरकार की तरफ से कहा गया कि कानूनों को वापिस लेने के अलावा कोई विकल्प दिया जाए, परन्तु कोई विकल्प नहीं मिला।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है