Covid-19 Update

57,121
मामले (हिमाचल)
55,591
मरीज ठीक हुए
958
मौत
10,623,920
मामले (भारत)
97,568,114
मामले (दुनिया)

तिब्बती सिंगर #tenzinchoegyal 2021 #Grammy_Award के लिए नामांकित

विभिन्न जातीय पृष्ठभूमि के तीन कलाकारों के सहयोग से बनाया गया है ऑडियो एलबम

तिब्बती सिंगर #tenzinchoegyal 2021 #Grammy_Award के लिए नामांकित

- Advertisement -

संगीत जगत के सबसे प्रतिष्ठित और विश्व प्रसिद्ध ग्रैमी अवॉर्ड्स की नामांकन लिस्ट में इस मर्तबा एक तिब्बती कलाकार ने भी जगह बनाई है। प्रसिद्ध तिब्बती कलाकार तेनजिन चोइगल (Tibetan Singer Tenzin Choegyal) की एल्बम को 2021 ग्रैमी पुरस्कार (2021 Grammy Awards) के लिए नामांकित किया गया है। इस साल कोरोना महामारी के चलते इस नॉमिनेशन प्रक्रिया को ऑनलाइन रखा गया था। इस साल 84 कैटेगिरी में 23000 नामांकन आए थे। पहले राउंड के मतदान में, मतदाताओं ने निर्णय लिया कि किसे नामांकित किया जाना चाहिए और अंतिम राउंड के मतदान में, मतदाता तय करेंगे कि किसे ग्रैमी अवार्ड मिलना चाहिए। अवॉर्ड्स के पहले राउंड में तिब्बती कलाकार तेनजिन चोइगल की उस ऑडियो एल्बम को जगह दी गई है, जिसे विभिन्न जातीय पृष्ठभूमि के तीन कलाकारों के सहयोग से बनाया गया है। एक प्रसिद्ध अमेरिकी कलाकार लॉरी एंडरसन (Laurie Anderson) ने तिब्बती गायक और संगीतकार तेनजिन चोइगल व संगीतकार जेसी पेरिस स्मिथ के साथ सहयोग किया है और बर्डो के गीतों के नाम से अनोखा ऑडियो एल्बम बनाया। इस एल्बम को 2021 ग्रैमी अवार्ड्स में बेस्ट न्यू एज एल्बम (Best New Age Album) के लिए नामांकित (Nominated)किया गया है।

एंडरसन ने बार्डो (Bardo) से इस सुंदर ऑडियो ओडिसी गीत को बनाया है, जिसमें द बार्डो थोडोल या तिब्बती बुक ऑफ द डेड (Tibetan Book of the Dead) के प्रमुख खंडों के साथ-साथ गोंग, बांसुरी, तार और पर्क्युशन शामिल हैं। तिब्बती बौद्ध पाठ जो मृत्यु के क्षण से लेकर हमारे अगले पुनर्जन्म तक हमारी चेतना की 49 दिनों की यात्रा का विस्तृत वर्णन करता है। चोइगल कभी-कभार तिब्बती जप और पारंपरिक वाद्य यंत्र प्रदान करता है, जबकि एंडरसन की शांत, स्पष्ट आवाज में अंग्रेजी अनुवादों का पाठ करते हुए सुना जाता है, द ट्राइसाइकिल (The Tricycle) का वर्णन करता है। तेनज़िन चोइगल एक तिब्बती कलाकार, संगीतकार, कार्यकर्ता, संगीत निर्देशक और सांस्कृतिक राजदूत हैं। तिब्बती परिवार में जन्मे, तेनज़िन चोइगल को निर्वासित (Exile in India) होने के लिए मजबूर होना पड़ा, क्योंकि उनका परिवार तिब्बत में चीन की दमनकारी नीति के चलते भारत आ गया था। एक बच्चे के रूप में, तेनज़िन अपनी मां को ख़ानाबदोश शैली (Nomadic Style) में गाते हुए सुनते थे और उसी से प्रभावित हुए, और आज ग्रैमी अवॉर्ड्स की नामांकन लिस्ट में स्थान बना पाने में सफल हुए हैं।

 

हिमाचल की ताजा अपडेट Live देखनें के लिए Subscribe करें आपका अपना हिमाचल अभी अभी YouTube Channel…

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है