Covid-19 Update

2,16,639
मामले (हिमाचल)
2,11,412
मरीज ठीक हुए
3,631
मौत
33,417,390
मामले (भारत)
228,533,587
मामले (दुनिया)

हिमाचल में ठेकेदार की दादागिरी, सियासी रसूख के दम पर उखाड़ फेंकी गांव की सड़क

कांगड़ा के इंदौरा में सरकारी सड़क ठेकेदार ने गांव की सड़क को उखाड़ दिया

हिमाचल में ठेकेदार की दादागिरी, सियासी रसूख के दम पर उखाड़ फेंकी गांव की सड़क

- Advertisement -

कांगड़ा। हिमाचल के कांगड़ा से बड़ी खबर सामने आई है। जहां एक सड़क ठेकेदार ने सियासी रसूख की धौंस दिखाई है। उसने गांव के रास्ते पर जेसीबी चलाते हुए सड़क को कुरेद कर फेंक दिया। इस बात की जानकारी मिलते ही पंचायत प्रधान मौके पर पहुंचे। और सड़क के उखाड़ने को लेकर कड़ा विरोध जताया।

दरअसल, पूरा मामला जमीन विवाद से जुड़ा है। कांगड़ा के इंदौरा गांव में एक सरकारी ठेकेदार ने सड़क की जमीन पर अपना मालिकाना हक जताते हुए बुलडोजर चला दिया। जब स्थानीय लोगों को रास्ता उखाड़ने की सूचना मिली तो उन्होंने मौके पर आकर जेसीबी ऑपरेटर को रोका। वहीं, ठेकेदार को गड्ढा खोदने का कारण पूछा। उक्त ठेकेदार ने धौंस दिखाते हुए जवाब दिया कि यह सड़क मेरी जमीन के तहत आती है। मैं इस सड़क को खोदकर अपनी जमीन में मिला रहा हूं।

यह भी पढ़ें: सुलह से कांग्रेस के हमले का शिमला से CM जयराम ने दिया ये जवाब

मौके पर पहुंची पूरी पंचायत

ठेकेदार के जवाब को सुनकर स्थानीय लोगों ने मौके पर पंचायत प्रधान और उपप्रधान को बुलाया। ग्राम पंचायत पलाख की प्रधान ने उक्त ठेकेदार से रास्ता उखाड़े जाने का कारण पूछा। साथ ही उन्होंने कहा कि आप किसके नोटिस पर यह कार्य कर रहे हैं। उक्त ठेकेदार ने प्रधान को भी राजनीति की धौंस दिखाई। मामले को लेकर ग्रामीणों ने बताया कि वर्ष 2008-09 में यह जमीन स्थानीय लोगों ने सड़क बनाने के लिए लोक निर्माण विभाग को दी थी।

इसके एग्रीमेंट की कॉपी लोक निर्माण विभाग के साथ-साथ स्थानीय लोगों के पास भी है, जबकि उक्त ठेकेदार ने अपनी जमीन वर्ष 2019 में खरीदी है। स्थानीय जनता ने संबंधित विभाग और प्रशासन से मांग करते हुए कहा कि सरकार की संपत्ति को नुकसान पहुंचाने वाले उक्त ठेकेदार पर कार्रवाई करें।

क्‍या कहते हैं पंचायत प्रतिनिधि व अधिकारी

पंचायत पलाख की प्रधान सुषमा देवी ने बताया कि सेठी साहब नामक व्यक्ति ने बिना किसी नोटिस के यह कार्य किया है। इसकी खबर ना ही पंचायत को थी और ना ही विभाग को। जब मुझे स्थानीय लोगों का फोन आया तो मैंने मौके पर जाकर काम को रुकवाया। पंचायत की ओर से उक्त व्यक्ति के खिलाफ ठोस कार्रवाई करने के लिए प्रशासन को लिखा जा रहा है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है