Covid-19 Update

2,16,906
मामले (हिमाचल)
2,11,694
मरीज ठीक हुए
3,634
मौत
33,477,459
मामले (भारत)
229,144,868
मामले (दुनिया)

कौल के बयान को डॉ सहजल ने बताया वाहियात, कांग्रेस शासनकाल में #Oxygen_Cylinder_Scam की होगी जांच

बोले - पल्स ऑक्सीमीटर की ख़रीद नियमानुसार हुई, कांग्रेस नेता पर करेंगे कानूनी कार्रवाई

कौल के बयान को डॉ सहजल ने बताया वाहियात, कांग्रेस शासनकाल में #Oxygen_Cylinder_Scam की होगी जांच

- Advertisement -

शिमला। स्वास्थ्य मंत्री डॉ राजीव सहजल (Dr. Rajeev Sahajal) ने पूर्व स्वास्थ्य मंत्री ठाकुर कौल सिंह (Thakur Kaul Singh) द्वारा कारोनाकाल में पल्स ऑक्सीमीटर की ख़रीद व ऑक्सीजन सिलेंडर घोटाले को लेकर सरकार पर किए गए हमले का जवाब दिया। उन्होंने कहा कि कौल सिंह ने ऐसे समय में राजनीतिक दृष्टि से सबसे वाहियात बयान दिया है, जो किसी भी दृष्टि से सही नहीं ठहराया जा सकता। डॉ सहजल ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि स्वास्थ्य विभाग (Health Deptt) में पल्स ऑक्सीमीटर की ख़रीद नियमानुसार की गई है क्योंकि उस समय पल्स ऑक्सीमीटर की क़ीमत 2800 रुपए ही थी अब 300 रुपए में भी पल्स ऑक्सीमीटर (Pulse Oximeter) मिल रहा है। डॉ सहजल ने कहा कि कांग्रेस नेता ठाकुर कौल सिंह सारे मामले में तथ्यहीन बयानबाजी कर रहे हैं। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि यदि कौल सिंह ने भ्रामक बयानबाजी बंद नहीं की तो उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई (Legal Action) अमल में लाई जाएगी। साथ ही कांग्रेस सरकार के समय हुए ऑक्सीजन सिलेंडर के घोटाले (Oxygen Cylinder Scam) की जांच की भी उन्होंने आज बात कही है।

यह भी पढ़ें: कौल, बाली, विप्लव व चंद्र साथ-साथ, Jai Ram Govt पर बरसे- अधिकारियों को चेताया

 

सहजल ने आरोप लगाया कि प्रदेश में लंबे अरसे तक स्वास्थ्य मंत्री रहे ठाकुर कौल सिंह का ये बयान लोगों में भ्रम फैलने का काम करेगा। जो किसी भी लिहाज़ से उचित नहीं माना जा सकता। मंत्री ने आरोप लगाया कि ऐसे समय में इस तरह की राजनीति कांग्रेस नेताओं की मानसिकता का परिचायक है। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि सरकार पर कांग्रेस नेताओं ने शुरू में वेंटिलेटर खरीद में भी घोटाले के आरोप लगाए, लेकिन सत्य सामने आने के बाद अब कांग्रेस इस ओर कुछ बोलने को स्थिति में नहीं है। कांग्रेस नेताओं ने ऑक्सीजन सिलेंडर में भी धांधली की बातें कही थीं, लेकिन इसकी खरीद में सरकार ने पूरे नियम कायदों का पालन किया है और आज ये सुविधा मरीजों के जीवन बचाने का काम कर रही है। स्वास्थ्य मंत्री डॉ राजीव सहजल ने कहा कि इस दौर में व्यवस्थाएं और परिस्थितियां भी अलग रहीं, लेकिन विभाग को जनसहयोग से महामारी से निपटने में मदद मिली। सरकार को विभिन्न सामाजिक संगठनों और हर वर्ग का सहयोग मिला। इसके बावजूद विभाग ने हर मुश्किलों के बाद अपनी भूमिका निभाई।

वहीं, स्वास्थ्य मंत्री डॉ राजीव सहजल ने दीन दयाल अस्पताल में महिला की आत्महत्या की जांच रिपोर्ट के सवाल पर बताया कि मामले की जांच रिपोर्ट आ गई है। इसमें जिनकी भी कोताही सामने आई है उनके ऊपर कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। एमएस चाहे छुट्टी में थे, लेकिन उनकी जिम्मेदारी भी बनती है। उन्होंने कहा कि हिमाचल में कम्युनिटी स्प्रेड हो चुका है, लेकिन अब मामलों में कमी आई है।

 

 

गौर हो कि पूर्व मंत्री ठाकुर कौल सिंह , जीएस बाली, चौधरी चंद्र कुमार व पूर्व सांसद विप्लव ठाकुर ने धर्मशाला में एक संयुक्त प्रेसवार्ता में स्वास्थ्य विभाग में घोटालों का आरोप लगाते हुए मामले की जांच की मांग की थी। उक्त नेताओं ने कहा था कि बीजेपी सरकार भ्रष्टाचार के दलदल में डूबी है। पूर्व अतिरिक्त मुख्य सचिव स्वास्थ्य ने महंगे दाम पर मास्क (Mask) से लेकर जीवन उपयोगी दवाइयों की खरीद फरोख्त की है। मंडी (Mandi) जिला में स्थानीय फार्मों को टेंडर ना देकर बाहरी फार्मों से महंगे दाम पर ऑक्सीजन सिलेंडर (Oxygen Cylinder) खरीदे हैं। इससे सरकार को करीब 97 करोड़ की चपत लगी है। साथ ही पांच व छह रुपये में बिकने वाला मास्क 16 रुपये में खरीदा है।

 

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group… 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है