Covid-19 Update

2,21,203
मामले (हिमाचल)
2,16,124
मरीज ठीक हुए
3,701
मौत
34,043,758
मामले (भारत)
240,610,733
मामले (दुनिया)

हिमाचल: चूड़धार चोटी पर होगा हेलीपेड का निर्माण, फॉरेस्ट क्लीयरेंस का है इंतजार

10 लाख की राशि हो चुकी मंजूर, शेष फॉरेस्ट क्लीयरेंस के बाद

हिमाचल: चूड़धार चोटी पर होगा हेलीपेड का निर्माण, फॉरेस्ट क्लीयरेंस का है इंतजार

- Advertisement -

नाहन। शिवालिक पर्वत (Shivalik Mountain) की 11,965 फीट की ऊंचाई पर स्थित चूड़धार चोटी पर जल्द ही हेलीपेड का निर्माण होगा। हालांकि, सरकार (Government) द्वारा इसके लिए 10 लाख रुपए की राशि भी मंजूर की जा चुकी है, लेकिन हेलीपेड का निर्माण फॉरेस्ट क्लीयरेंस नहीं मिलने के चलते अधर में लटका हुआ है। हालांकि, अब इसे लेकर प्रशासनिक महकमे ने जोर आजमाइश की है।

फॉरेस्ट क्लीयरेंस के चलते लटका हुआ है प्रोजेक्ट

दरअसल, चूड़धार चोटी पर हेलीपेड के निर्माण हेतु निरीक्षण करने के बाद कालाबाग में जगह भी चिह्नित की जा चुकी है। इसे लेकर 10 लाख रुपए की राशि स्वीकृत भी सरकार ने जारी कर दी है। शेष राशि फॉरेस्ट क्लीयरेंस के बाद ही मंजूर की जाएगी। जानकारों की माने तो चूड़धार चोटी पर यदि हेलीपेड का निर्माण होता है, तो भविष्य में यहां मणिमहेश की तर्ज पर हेली सेवाएं भी शुरू की जा सकती है। साथ ही आपातकालीन स्थिति में रेस्क्यू करने में भी बहुत बड़ी मदद मिल सकती है। यही नहीं, चोटी पर पर्यटन को भी चार चांद लग पाएंगे।

आस्था और पर्यटन को मिलेगा बढ़ावा

इस संबंध में संगड़ाह बीडीसी के अध्यक्ष मेला राम शर्मा ने विस्तार से जानकारी दी। मीडिया से बात करते हुए बीडीसी अध्यक्ष मेला राम शर्मा ने कहा कि चूड़धार धार्मिक स्थल जहां लाखों श्रद्धालुओं की आस्था का केंद्र बिंदु है, तो वहीं पर्यटन की दृष्टि से भी अपार संभावनाएं छिपी है। उन्होंने बताया कि चोटी पर कालाबाग नामक स्थान पर हेलीपैड के लिए जगह चयनित की जा चुकी है। सरकार द्वारा इसके लिए 10 लाख रुपए की राशि एसडीएम चौपाल को जारी की जा चुकी है। मेला राम शर्मा ने बताया कि हेलीपैड के निर्माण हेतु फॉरेस्ट क्लीयरेंस की आवश्यकता है, जिसको लेकर औपचारिकताएं पूरी की जा रही है। फॉरेस्ट क्लीयरेंस मिलते ही हेलीपैड निर्माण के लिए शेष राशि भी जारी की जाएगी। बीडीसी अध्यक्ष मेलाराम भी मानते हैं कि यदि यहां हेलीपेड का निर्माण होता है, तो मणिमहेश यात्रा की तर्ज पर हेलीसेवाएं भी शुरू की जा सकती है, जिससे पर्यटन को और अधिक बढ़ावा मिलेगा। साथ ही आपातकाल में भी यह हेलीपेड काफी लाभदायक साबित होगा।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

 

- Advertisement -

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है