Covid-19 Update

3,12, 188
मामले (हिमाचल)
3, 07, 820
मरीज ठीक हुए
4189
मौत
44,583,360
मामले (भारत)
622,055,597
मामले (दुनिया)

प्री प्राइमरी टीचर भर्ती से आंगनबाड़ी कर्मियों को बाहर कर सरकार ने दिया धोखा

आंगनबाड़ी वर्कर्स एवं हैल्पर्स यूनियन ने कहा अब आंदोलन कर दिखाएंगे आईना

प्री प्राइमरी टीचर भर्ती से आंगनबाड़ी कर्मियों को बाहर कर सरकार ने दिया धोखा

- Advertisement -

शिमला। आंगनबाड़ी वर्कर्स एवं हैल्पर्स यूनियन (Anganwadi Workers and Helpers Union) संबंधित सीटू का क्रोध सातवें आसमान पर है। यूननियन ने हिमाचल प्रदेश में प्री प्राइमरी टीचर भर्ती (Pre Primary Teacher recruitment) से आंगनबाड़ी कर्मियों को बाहर करने के प्रदेश सरकार के कैबिनेट निर्णय का कड़ा विरोध किया है। यूनियन ने इसके खिलाफ आंदोलन तेज करने का निर्णय लिया है। यूनियन ने आंदोलन की रणनीति बनाने के लिए अपनी राज्य कमेटी की आपात बैठक 25 सितंबर को बुलाई है। यूनियन की प्रदेश अध्यक्ष नीलम जसवाल (Neelam Jaswal) व महासचिव वीना शर्मा ने प्री प्राइमरी नियुक्तियों से आंगनबाड़ी कर्मियों को बाहर करने के प्रदेश सरकार के निर्णय के खिलाफ जोरदार हमला बोला है व प्रदेश सरकार को आंगनबाड़ी व आईसीडीएस (ICDS) विरोधी करार दिया है।

यह भी पढ़ें:हिमाचल कैबिनेट: जल रक्षक होंगे नियमित, वन विभाग में 1062 पदों पर होगी भर्ती

उन्होंने कहा है कि यूनियन इसके खिलाफ उग्र आंदोलन (Furious Movement) करेगी व सरकार के आंगनबाड़ी विरोधी चेहरे को जनता में बेनकाब करेगी। उन्होंने मांग की है कि सरकार अपने फैसले को वापिस ले व आंगनबाड़ी कर्मियों को प्री प्राइमरी में सौ प्रतिशत नियुक्ति दे। उन्होंने कहा कि प्री प्राइमरी कक्षाओं को पढ़ाने का जिम्मा केवल आंगनबाड़ी कर्मियों को दिया जाए क्योंकि ये प्रशिक्षित कर्मी हैं।  ये कर्मी पहले ही अर्ली चाइल्डहुड केअर एंड एजुकेशन (ईसीसीई) के तहत 6 वर्ष से कम उम्र के बच्चों को शिक्षा (Education) दे रहे है। इसलिए नई शिक्षा नीति के तहत इन्हीं प्रशिक्षित कर्मियों को प्री प्राइमरी में नियुक्ति दी जाए। उन्होंने हैरानी व्यक्त की है कि पिछले दो वर्षों से प्रदेश सरकार आंगनबाड़ी कर्मियों को प्री प्राइमरी में नियुक्ति की बात करती रही है व अब अपनी ही राय से यू टर्न ले रही है। उन्होंने कहा कि बजट सत्र के दौरान प्रदेश सरकार ने प्री प्राइमरी में आंगनबाड़ी कर्मियों को 30 प्रतिशत कोटा देने की बात की थी जिस से अब सरकार मुकर रही है। उन्होंने सरकार के इस कदम को आंगनबाड़ी कर्मी विरोधी करार दिया है। उन्होंने प्रदेश सरकार को चेताया है कि अगर उसने आंगनबाड़ी कर्मियों को प्री प्राइमरी में नियुक्ति ना दी तो आंदोलन तेज होगा।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है