Covid-19 Update

2,21,306
मामले (हिमाचल)
2,16,288
मरीज ठीक हुए
3,703
मौत
34,043,758
मामले (भारत)
240,610,733
मामले (दुनिया)

हिमाचल: आशा वर्करों की मांग को गच्चा दे गए मंत्री, भामस नेता बोले- अब होगी आर-पार की लड़ाई

उत्तराखंड की तर्ज पर वेतन की मांग कर रही हैं हिमाचल की आशा वर्कर

हिमाचल: आशा वर्करों की मांग को गच्चा दे गए मंत्री, भामस नेता बोले- अब होगी आर-पार की लड़ाई

- Advertisement -

फतेहपुर। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण और आयुष मंत्री डॉ राजीव सैजल (Health Minister Rajiv Saizal) ने आज रविवार को कांगड़ा के फतेहपुर में भारतीय मजदूर संघ (Bharatiya Mazdoor Sangh) से संबंधित हिमाचल प्रदेश आशा कार्यकर्ता संघ के प्रथम अधिवेशन में हिस्सा लिया। इस मौके पर उन्होंने कहा कि लॉकडाउन के कारण जहां लोग अपने घरों में बंद थे। वहीं, आशा वर्कर (Asha Worker) सहित आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने पूरे समर्पण और सेवाभाव से मानवता की सेवा की है।

यह भी पढ़ें:हिमाचल में यहां गरजीं आशा वर्कर, सरकारी कर्मचारी घोषित करने की उठाई मांग

आशा वर्कर नई किरण बनकर उभरी

स्वास्थ्य मंत्री राजीव सैजल ने कहा कि संकट की इस घड़ी में आशा कार्यकर्ता लोगों के लिए आशा की नई किरण बनकर उभरी हैं। उन्होंने कहा कि हिमाचल और केंद्र सरकार ने समय-समय पर आशा वर्कर के मानदेय में बढ़ोतरी की है। उनकी मांगों के प्रति हिमाचल सरकार गंभीर है। राजीव सैजल ने बताया कि इसके राज्य अंशदान को 750 रुपये प्रतिमाह बढ़ाया गया है। जिससे उन्हें प्रतिमाह 2750 का मानदेय प्रदेश सरकार द्वारा प्रदान किया जा रहा है। इसके अतिरिक्त उन्हें प्रतिमाह लगभग दो हज़ार रुपए की प्रोत्साहन राशि प्रदान दी जा रही है। उन्होंने कहा कि हिमाचल सरकार आशा वर्कर को पूरा मान और सम्मान देगी।

आशा वर्करों की मांग पर अध्ययन का दिया हवाला

वहीं, उत्तराखंड राज्य की तर्ज पर मानदेय देने के बारे राजीव सैजल ने अध्ययन करने का भरोसा दिया। सैजल ने आशा वर्करों की मांग पर बोलते हुए कहा कि इस बारे वह संबंधित राज्य सरकार से आशा कार्यकर्ताओं के लिए बनाई गई नीति का पूरा अध्ययन करेंगे। उसके बाद इस बारे सीएम जयराम ठाकुर से भी चर्चा करेंगे। उन्होंने आशा वर्कर को भरोसा दिया कि हिमाचल सरकार उनके मुद्दों को केंद्र सरकार से भी उठाने का हर संभव प्रयास करेगी।

सीएम के सामने बात रखने का दिया भरोसा

उन्होंने शिमला में होने वाली कार्यकारिणी की बैठक को लेकर कहा कि इस बैठक में विभागीय अधिकारी भी उपस्थित रहेंगे। वहीं, आशा कार्यकर्ताओं की मांगों पर विस्तृत चर्चा करने के बाद उन्हें सीएम जयराम ठाकुर के समक्ष प्रस्तुत किया जाएगा। उन्होंने आशा कार्यकर्ताओं को शीघ्र ही शिमला में सीएम की अध्यक्षता में राज्य स्तरीय अधिवेशन आयोजित करने का भी भरोसा दिया।

 

 

सरकार पर लगाए आरोप

वहीं, महज आश्वासन मिलने से भामस नेता स्वास्थ्य मंत्री के खिलाफ भड़क उठे। भामस जिला अध्यक्ष राजिंदर भंगलिया ने सरकार पर आरोप लगाए की सरकार पिछले चार साल से आश्वासन पर आश्वासन दिए जा रही है। अब हमें सरकार पर कोई विश्वास नहीं रहा। उन्होंने कहा कि मंत्री राजीव सैजल ने कहा कि उत्तराखंड की तर्ज पर आशा वर्करों को वेतन देने की बात कही है, उस पर हमें जरा भी विश्वास नहीं हैं। भामस नेता ने कहा कि जो भी राजनीतिक दल हमारी मांगों को मानेगा, भामस उसका साथ देगा। उन्होंने कहा सरकार निजीकरण को बढ़ावा दे रही है। उन्होंने बताया कि ईपीएफ के नाम उनके छत्तीस रुपए काटे जा रहे हैं। जिसका कोई अता-पता नहीं है। वहीं, उनके एरियर के पच्चीस रुपए भी सरकार निगल गई, जिसका आज तक कोई पता नहीं चला।

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

 

- Advertisement -

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है