Covid-19 Update

2,17,140
मामले (हिमाचल)
2,11,871
मरीज ठीक हुए
3,637
मौत
33,501,851
मामले (भारत)
229,513,714
मामले (दुनिया)

Himachal में कोरोनाकाल की “पहली” परीक्षा, 21 हजार से अधिक प्रशिक्षुओं ने किया था आवेदन

Himachal में कोरोनाकाल की “पहली” परीक्षा, 21 हजार से अधिक प्रशिक्षुओं ने किया था आवेदन

- Advertisement -

शिमला/ ऊना। वैश्विक महामारी कोविड-19 के कारण 23 मार्च के बाद देशभर में हुए लॉकडाउन के बाद हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड (Himachal Pradesh Board of School Education) कीओर से डी एलएड (D. L.Ed/JBT) की प्रवेश परीक्षा करवाई गई। लॉकडाउन के बाद आज प्रदेश में ये पहली परीक्षा आयोजित की गई। राज्य की विभिन्न जिलों में इस परीक्षा को करवाने के लिए 140 परीक्षा केन्द्र बनाए गए। जिन पर कोविड-19 महामारी से बचाव के लिए सभी नियमों की पालना की गई। इस एंट्रेंस एग्जाम (Entrance exam) के लिए प्रदेश के 21 हजार से अधिक प्रशिक्षुओं ने आवेदन किया हुआ था। वहीं, ऊना के परीक्षा केंद्रों में भी ये परीक्षा सावधानी पूर्वक करवाई गई। मास्क लगाकर और सैनिटाजर हाथों में लेकर ही परीक्षार्थी परीक्षा देने पहुंचे। केन्द्रों में सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) का भी पूरा ख्याल रखा गया।

ये भी पढ़ेंः HPBOSE ने जारी की D.El.Ed. Part-I and Part-II की अनुपूरक परीक्षा की डेटशीट, यहां देखें

ऊना जिला में सैकड़ों अभ्यर्थियों ने डी एलएड (जेबीटी) की इस परीक्षा में भाग लिया। परीक्षा केंद्रों में आलम ऐसा था कि केंद्र में पहुंच रहे सभी अभ्यर्थियों को मेन गेट पर ही हैंड सैनिटाइज करवाए जा रहे थे। वहीं हर अभ्यार्थियों को मास्क पहनना भी सुनिश्चित किया गया था। वहीं, परीक्षा हाल में सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ध्यान रखा जा रहा था। परीक्षा केंद्र (Exam center) पर पहुंच रहे अभ्यार्थी भी अधिकतर यातायात के लिए निजी साधनों का प्रयोग करते देखे गए। सार्वजनिक परिवहन व्यवस्था से अभ्यर्थियों ने दूरी बनाए रखी।

हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) में कोरोनावायरस के चलते 23 मार्च से लागू किए गए लॉकडाउन (Lockdown) के बाद से लेकर अभी तक किसी भी प्रकार की यह पहली परीक्षा आयोजित की गई है। इसके अलावा शिक्षा बोर्ड की कुछ परीक्षाओं को जहां रद किया गया। वहीं यूनिवर्सिटी स्तर की कुछ परीक्षाएं अभी भी अधर में लटकी हुई हैं। इस परीक्षा के लिए शिक्षा विभाग और प्रशासन ने पुख्ता तैयारी की थी। ताकि कोविड-19 (Covid-19) को लेकर जारी किए गए दिशा-निर्देशों और तय किए मापदंडों का पूरी तरह पालन किया जा सके।

अभ्यर्थियों ने बताया कि इस प्रवेश परीक्षा के लिए वो काफी समय से तैयारी कर रहे थे वहीँ बोर्ड द्वारा बताये गए कोविड-19 नियमों का भी पालन किया है।राजकीय बाल विद्यालय के प्रधानाचार्य सुरिन्द्र रायजादा ने कहा कि उनके विद्यालय में स्थापित केंद्र में 200 अभ्यार्थियों की परीक्षा ली गई है। उन्होंने बताया कि शिक्षा बोर्ड द्वारा कोविड-19 से बचाव गए नियमों का भी केंद्र में पालन करते हुए अभ्यर्थियों के हैंड सैनेटाइज किए गए वहीं, सोशल डिस्टेंसिंग का भी पालन करवाया गया है। बिना मास्क अभ्यर्थियों को परीक्षा केंद्र में आने की अनुमति नहीं दी गई।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है