Covid-19 Update

2,06,027
मामले (हिमाचल)
2,01,270
मरीज ठीक हुए
3,505
मौत
31,653,380
मामले (भारत)
198,295,012
मामले (दुनिया)
×

भारत की पहली कोविड-19 कैंडीडेट वैक्सीन ‘COVAXIN’ तैयार; जुलाई से ह्यूमन ट्रायल

भारत की पहली कोविड-19 कैंडीडेट वैक्सीन ‘COVAXIN’ तैयार; जुलाई से ह्यूमन ट्रायल

- Advertisement -

नई दिल्ली। भारत (India) में कोरोना की पहली वैक्सीन ‘कोवैक्सीन’ तैयार हो चुकी है। भारत की अग्रणी वैक्सीन निर्माता भारत बायोटेक ने सोमवार को घोषणा की कि उसने सफलतापूर्वक कोरोना वायरस की वैक्‍सीन COVAXIN बना ली है। हैदराबाद की फार्मा कंपनी भारत बायोटेक सोमवार को कहा कि उसकी कोविड-19 की कैंडीडेट वैक्सीन ‘COVAXIN’ को चरण 1 और 2 के ह्यूमन ट्रायल के लिए ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया से मंज़ूरी मिली है। इसके साथ, यह ह्यूमन ट्रायल (Human Trial) के लिए मंज़ूरी प्राप्त करने वाली भारत की पहली कैंडीडेट वैक्सीन बन गई।

यह भी पढ़ें: HC का बड़ा फैसला: इस State में अभिवावकों को देनी होगी बच्चों की स्कूल फीस

प्री-क्लीनिकल ट्रायल कामयाब होने के बाद मिली है अनुमति

इस वैक्सीन को हैदराबाद के जीनोम वैली के बीएसएल-3 (बायो-सेफ्टी लेवल 3) हाई कंटेनमेंट फैसिलिटी में तैयार किया गया है। कंपनी ने बताया कि भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) और नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ विरोलॉजी (एनआईवी) के साथ मिलकर उसने कोविड-19 के लिए भारत की पहली वैक्सीन को सफलतापूर्वक विकसित किया है। अब देखना है कि यह वैक्सीन क्लीनिकल ट्रायल में असरदायक होती है या नहीं। कंपनी ने कहा कि अगले महीने से इस वैक्‍सीन का इंसानों पर ट्रायल शुरू हो जाएगा। इसके प्री-क्लीनिकल ट्रायल कामयाब रहे थे। इसके बाद इंसानों पर ट्रायल को मंजूरी दी गई है।


यह काफी सुरक्षित है, इम्यून रेस्पॉन्स को तेज करती है

कंपनी की तरफ से इस वैक्सीन के बारे में अधिक जानकारी देते हुए बताया गया कि हम कोरोना वैक्सीन की घोषणा करते हुए फख्र महसूस कर रहे हैं। यह देश में तैयार होने वाली कोरोना की पहली वैक्सीन है। इसे आईसीएमआर और नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी के साथ तैयार किया गया है। कंपनी की तरफ से आगे कहा गया कि सेंट्रल ड्रग्स स्टैंडर्ड कंट्रोल ऑर्गनाइजेशन के सपोर्ट और गाइडेंस के कारण इस प्रोजेक्ट को अप्रूवल मिला। हमारी रिसर्च और दवा तैयार करने वाली टीम बिना थके लगातार काम कर रही है। इसे तैयार करने के लिए हर जरूरी तकनीक की मदद ली जा रही है। कंपनी की मानें तो प्री-क्लीनिकल ट्रायल में वैक्सीन के नतीजे बेहतर मिले हैं। यह काफी सुरक्षित है। इम्यून रेस्पॉन्स को तेज करती है। बता दें कि भारत बायोटेक के अलावा देश की पांच और फार्मा कंपनियां वैक्सीन तैयार करने में लगी हैं।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group… 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है