Covid-19 Update

2, 85, 012
मामले (हिमाचल)
2, 80, 818
मरीज ठीक हुए
4117*
मौत
43,140,068
मामले (भारत)
528,280,106
मामले (दुनिया)

बुढ़ापे के लिए मोटी रकम बचाना चाहते है तो अपनाएं यह स्कीम

मंथली एसआईपी करने पर हर महीने मिलेगी 35 हजार पेंशन

बुढ़ापे के लिए मोटी रकम बचाना चाहते है तो अपनाएं यह स्कीम

- Advertisement -

नई दिल्ली। हर कर्मचारी चाहता है कि रिटायरमेंट (Retirement) के बाद उसके बुढ़ापे के लिए अच्छा खासा बैंक बैलेंस हो। ऐसे में आपको एक ऐसे निवेश के विकल्प की जरूरत है, जिसमें रिटर्न भी अच्छा मिले और शेयर मार्केट (Share Market) के जोखिम भी कम हो। आप सभी यानी सिस्टमैटिक इनवेस्टमेंट प्लान के बारे में जानते हैं, जिसमें आप हर महीने कुछ रकम निवेश करते हैं, लेकिन हम आपको इसके ठीक उलट यानी सिस्टमैटिक विद्ड्रॉल प्लान (Systematic Withdrawal Plan) के बारे में बताने जा रहे हैं, जिससे आपको हर महीने रकम मिलेगी, इसे पेंशन ही समझ लीजिए। हम यहां आपको बता रहे हैं कि किस तरह से 20 साल तक हर महीने 5 हजार रुपए की मंथली एसआईपी (SIP) करने पर अगले 20 साल तक आप हर महीने अपने लिए 35 हजार रुपए पेंशन का इंतजाम कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें:श्रम मंत्रालय ने बदला महंगाई भत्ते का कैलकुलेशन फॉर्मूला, इन कर्मचारियों को होगा बड़ा फायदा
सिस्टमैटिक विद्ड्रॉल प्लान

सिस्टेमैटिक विद्ड्रॉल प्लान के जरिए निवेशक एक तय राशि म्यूचुअल फंड स्कीम (Mutual Fund Scheme) से वापस पाते हैं। कितने समय में कितना पैसा निकालना है, यह निवेशक खुद ही तय करता हैए एसडब्ल्सूडीपी के तहत यह पैसा रोजाना, वीकली, मंथली, तिमाही, छह महीने पर या सालाना आधार पर निकाला जा सकता है। निवेशक चाहें तो केवल एक निश्चित रकम निकालें या फिर चाहें तो निवेश पर कैपिटल गेंस को निकाल सकते हैं।

एक मुश्त की जगह मंथली आधार पर निवेश की सुविधा

सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान के तहत आपको म्यूचुअल फंड की स्कीम में एक मुश्त पैसा लगाने की जगह मंथली आधार पर निवेश करने की सुविधा मिलती है। किसी स्कीम में हर महीने कितना निवेश करना है, यह आप खुद तय कर सकते हैं। इसका फायदा यह है कि यहां एक बार में भी आपका पूरा पैसा ब्लॉक नहीं होता है, बल्कि इसमें आप अपनी सुविधा से मंथली निवेश कर सकते हैं। इसके साथ ही समय समय पर रिटर्न का आंकलन कर एसआईपी बढ़ाने या घटाने की भी सहूलियत मिल जाती है।

एसडब्ल्यूडीपी के फायदे

एसडब्ल्यूडीपी रेगुलर (SWDP Regular) निकासी है। इसके जरिए स्कीम से यूनिटों का रिडम्पशन होता है। अगर तय समय बाद सरप्लस पैसा होता है तो वह आपको मिल जाता है। इसमें वैसे ही टैक्स लगेगा, जैसा इक्विटी और डेट फंड के मामले में लगता है। जहां होल्डिंग की अवधि 12 महीने से ज्यादा नहीं है, वहां निवेशकों को शॉर्ट टर्म कैपिटल गेंस टैक्स देना होगा। अगर किसी स्कीम में निवेश कर रहे हैं तो आप उसमें एसडब्लूपी विकल्प को एक्टिवेट कर सकते हैं।

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है