Covid-19 Update

1,98,313
मामले (हिमाचल)
1,89,522
मरीज ठीक हुए
3,368
मौत
29,419,405
मामले (भारत)
176,212,172
मामले (दुनिया)
×

J&K: पूर्व DGP बोले- घाटी के अल्पसंख्यक हिंदुओं को दिए जाएं हथियार और ट्रेनिंग

J&K: पूर्व DGP बोले- घाटी के अल्पसंख्यक हिंदुओं को दिए जाएं हथियार और ट्रेनिंग

- Advertisement -

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir) के पूर्व पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) एसपी वैद्य (Former DGP SP Vaidya) ने कश्मीर में अल्पसंख्यक हिंदुओं (Minority Hindus) को हथियार मुहैया कराने और ट्रेनिंग देने की बात कही है। एसपी वैद्य ने कहा कि विलेज डिफेंस कमेटी फॉर्मूला को प्लानिंग के साथ लागू करने से कोई नुकसान नहीं है। बक़ौल पूर्व पुलिस महानिदेशक, ‘जम्मू के चिनाब घाटी में हिंदुओं को हथियार दिए गए थे। इससे नब्बे के दशक में हिंदुओं के पलायन को रोकने में मदद मिली थी।’

कमजोर मुस्लिमों को भी हथियार दिए जाने चाहिए

पूर्व डीजीपी वैद्य ने यह भी कहा कि कश्मीर घाटी में आतंकवादियों से निपटने के लिए कमजोर मुस्लिमों को भी हथियार (Weapon) दिए जाने चाहिए। एसपी वैद्य ने कहा कि मैं पहला शख्स हूं, जिसने जम्मू-कश्मीर के रियासी में पहली विलेज डिफेंस कमेटी का गठन किया। इजरायल की तरह कश्मीर घाटी में भी कमजोर लोगों के लिए विशेष प्रावधान करने की आवश्यकता है।


यह भी पढ़ें: सरकार ने दिया प्रस्ताव: Check bounce होने पर जेल-जुर्माने की सजा हो सकती है खत्म!

उन्होंने आगे कहा कि कश्मीर घाटी में विलेज डिफेंस कमेटी गठित करना मुश्किल काम है, लेकिन असंभव नहीं हैं। गौरतलब है कि पूर्व डीजीपी वैद्य का यह बयान ऐसे समय पर सामने आया है, जब जम्मू कश्मीर के अनंतनाग जिले में आतंकियों ने सरपंच अजय पंडिता की गोली मारकर हत्या कर दी।

अजय पंडिता की हत्या के बाद से गरमाया हुआ है मुद्दा

अजय पंडिता की हत्या की जिम्मेदारी आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा से जुड़े संगठन द रेजिस्टेंस फ्रंट (TRF) ने ली थी। बता दें कि आतंकियों ने सोमवार शाम छह बजे सरपंच अजय पंडिता की हत्या की थी। अजय पंडिता कांग्रेस के सदस्य थे। जब आतंकियों ने अजय पंडिता को गोली मारी, तो उनको अस्पताल पहुंचाया गया था। हालांकि उनको बचाया नहीं जा सका। वहीं, अजय पंडिता की हत्या को लेकर देशभर में आक्रोश है। साथ ही कश्मीरी हिंदुओं के मुद्दे ने एक बार फिर से जोर पकड़ लिया है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है