Covid-19 Update

2, 52, 042
मामले (हिमाचल)
2, 33, 188
मरीज ठीक हुए
3892*
मौत
38,218,773
मामले (भारत)
339,486,288
मामले (दुनिया)

राठौर बोले: उपचुनाव परिणाम ने खोले बीजेपी के आंख, कान, बैकफुट पर आई मोदी सरकार

बीजेपी को तेल की कीमतों में करनी पड़ी कटौती, वापस लेने पड़े कृषि कानून

राठौर बोले: उपचुनाव परिणाम ने खोले बीजेपी के आंख, कान, बैकफुट पर आई मोदी सरकार

- Advertisement -

शिमला। कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर (Kuldeep Singh Rathore) ने कहा कि प्रदेश में चार उप चुनावों के बाद बीजेपी (BJP) के बंद कान व आंखे खुल गई है। इसी का परिणाम है कि उपचुनाव परिणाम के तुरंत बाद सरकार ने पेट्रोल व डीजल के हर रोज बढ़ते भाव पर रोक लगाते हुए इसके मूल्यों में कुछ कटौती भी की। वहीं केंद्र में पीएम मोदी सरकार को तीन नए कृषि कानूनों को वापिस लेना पड़ा है। कुलदीप राठौर आज जिला कांग्रेस (Congress) कमेटी शहरी के बढ़ती महंगाई व बेरोजगारी के खिलाफ जन जागरण अभियान (jan jaagaran abhiyaan) का नेतृत्व कर रहे थे।

यह भी पढ़ें: वीरेंद्र कंवर बोले: ग्रामीण क्षेत्रों में थ्री टायर सिस्टम से होगा विकास, मुकेश पर भी कसा तंज

राठौर ने कहा कि प्रदेश में कांग्रेस की ऐतिहासिक जीत के बाद केंद्र की मोदी सरकार व प्रदेश की जयराम सरकार की कुछ आंख, कान खुले है। मोदी सरकार को तीन नए कृषि कानूनों को वापिस लेना पड़ा है। उन्होंने कहा कि पिछले एक साल से देश का किसान अपनी इस मांग को लेकर सड़कों पर बैठा था। मोदी सरकार इस आंदोलन को दबाने का भरसक प्रयास करती रही। उन्होंने कहा कि जैसे ही प्रदेश में उप चुनाव के परिणाम आये वैसे ही मोदी सरकार बैकफुट पर आ गई। राठौर ने कहा कि देश के इतिहास में यह पहली बार हुआ है कि दिल्ली में अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की देश मे बढ़ती महंगाई के खिलाफ रैली के आयोजन को अनुमति नही दी गई। उन्होंने कहा कि यह देश के संविधान का अपमान है और देश के नागरिकों के अधिकार का हनन। उन्होंने कहा कि कांग्रेस इसके खिलाफ किसी भी बड़े आंदोलन से पीछे नही हटेगी।

 

चुनवी घोषणाएं कर रही बीजेपी सरकार

प्रदेश सरकार की आलोचना करते हुए राठौर ने कहा कि प्रदेश में बीजेपी सरकार (BJP Govt) चारों खाने चित हो गई है। उन्होंने कहा कि चार साल तक यह सरकार कुंभकर्णी नीद सोई रही। अब कुछ जागी है तो कर्मचारियों की चिंता के साथ साथ बड़ी बड़ी घोषणाओं में जुट गई है। अपने इस चार साल के शासनकाल में प्रदेश का खजाना खाली कर 65 हजार करोड़ से अधिक कर्ज लेकर मौज मस्ती में जुटी है। उन्होंने कहा कि सीएम की घोषणाएं केवल चुनावी घोषणाएं है जिन्हें पूरा करने के लिये ना तो सरकार के खजाने में पैसा है और ना ही कोई बजट प्रावधान है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

 

 

 

- Advertisement -

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है