Covid-19 Update

1,99,252
मामले (हिमाचल)
1,92,229
मरीज ठीक हुए
3,395
मौत
29,633,105
मामले (भारत)
177,469,183
मामले (दुनिया)
×

मेडिकल कॉलेज नेरचौक में ऑक्सीजन की कमी, तिमारदार ने मुख्यमंत्री हेल्पलाइन पर दर्ज की शिकायत

क्षमता से अधिक ऑक्सीजन बैड्स की जरूरत होने से सप्लाई पर पड़ा असर

मेडिकल कॉलेज नेरचौक में ऑक्सीजन की कमी, तिमारदार ने मुख्यमंत्री हेल्पलाइन पर दर्ज की शिकायत

- Advertisement -

सुंदरनगर। कोरोना काल में संक्रमित व्यक्ति के लिए ऑक्सीजन( oxygen ) की अहमियत हम सभी जानते हैं, लेकिन ऑक्सीजन की कमी होना चिंता का विषय है। हिमाचचल के एक अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी ( Lack of oxygen) की शिकायतें सामने आई हैं हालांकि इसके पीछे मरीजों की संख्या बढ़ना कारण माना जा रहा है। मामला लाल बहादुर शास्त्री मेडिकल कॉलेज नेरचौक ( Lal Bahadur Shastri Medical College Nerchowk)में स्थापित कोविड अस्पताल का है । यहां ऑक्सीजन की सप्लाई का टोटा शुरू हो गया है। वहां पर उपचाराधीन मरीज के तिमारदारों ने अस्पताल प्रबंधन पर ऑक्सीजन की सप्लाई ( Oxygen supply)को लेकर कई आरोप भी लगाए हैं।

यह भी पढ़ें:कोरोना संक्रमितों के लिए रामबाण है ये दवा- सात दिनों में पॉजिटिव से नेगेटिव हो रहे लोग

बिलासपुर जिले के घुमारवीं क्षेत्र की 58 वर्षीय कोरोना संक्रमित ( Corona infected ) मरीज महिला के तिमारदार राजेश कुमार का आरोप है कि वे अपने मरीज को लेकर मेडिकल कॉलेज नेरचौक में उपचार के लिए आए थे। इसी दौरान कोविड वार्ड ( Covid Ward) में ऑक्सीजन की सप्लाई कम होने के कारण मौके पर मौजूद डॉक्टरों को भी समस्या आ रही थी। इस कारण डॉक्टरों को भी ऑक्सीजन का लेवल कम करना पड़ गया। उन्होंने कहा कि इससे उनके मरीज का भी ऑक्सीजन लेवल कम होने के कारण तबीयत खराब हो गई। राजेश कुमार ने कहा कि इस मामले को लेकर उन्होंने मुख्यमंत्री हेल्पलाइन के 1100 नंबर पर शिकायत भी दर्ज करवाई गई है।


यह भी पढ़ें:कोरोना के मामलों में गिरावट जारी-कांग्रेस सांसद Rajeev Satav समेत मौत के आंकड़ों ने बढ़ाई चिंता

उधर इस मामले पर डेडीकेटेड कोविड अस्पताल नेरचौक के मुख्य चिकित्सा अधिकारी जीवानंद चौहान ( CMO Jivananda Chauhan) ने कहा कि मेडिकल कॉलेज नेरचौक में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या अधिक हो गई है। इस कारण क्षमता से अधिक ऑक्सीजन बैड्स की जरूरत होने से ऑक्सीजन की सप्लाई पर भी प्रभाव पड़ा है। उन्होंने कहा कि जब कंपनी द्वारा मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन प्लांट स्थापित किया गया था तो इसकी क्षमता 120 बेड थी। लेकिन कोरोना की दूसरी लहर में हालात बिगड़ने के कारण ऑक्सीजन की बढ़ी हुई मांग के कारण समस्या आ रही है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है