Covid-19 Update

2,00,282
मामले (हिमाचल)
1,93,850
मरीज ठीक हुए
3,423
मौत
29,853,870
मामले (भारत)
178,745,302
मामले (दुनिया)
×

नम आंखों से बरागटा को दी अंतिम विदाई-भारी संख्या में कार्यकर्ता-राजनेता पहुंचे कोटखाई

अंतिम संस्कार आज उनके पैतृक निवास स्थान में किया गया,बेटे ने दी मुखाग्नि

नम आंखों से बरागटा को दी अंतिम विदाई-भारी संख्या में कार्यकर्ता-राजनेता पहुंचे कोटखाई

- Advertisement -

कोटखाई। शिमला जिले के जुब्बल कोटखाई विधानसभा क्षेत्र से बीजेपी विधायक और पूर्व मंत्री नरेंद्र बरागटा ( Narendra Bragta) का आज उनके पैतृक गांव कोटखाई के टहटोली में अंतिम संस्कार ( Funeral)किया गया। बड़े बेटे चेतन बरागटा ने उन्हें मुखाग्नि दी। आज सुबह शहरी विकास मंत्री सुरेश भारद्वाज, वनमंत्री राकेश पठानिया, सांसद इंदू गोस्वामी , माकपा विधायक राकेश सिंघा, बीजेपी अध्यक्ष सुरेश कश्यप सहित कई नेताओं, प्रशासनिक अधिकारियों और इलाके के लोगों ने टहटोली पहुंच कर बरागटा को श्रद्धासुमन अर्पित किए। इस अवसर पर कोटखाई- जुब्बल के लोगों ने भी अपने नेता को नम आंखों से अंतिम विदाई दी।

यह भी पढ़ें: ब्रेकिंगः बीजेपी एमएलए नरेंद्र बरागटा नहीं रहें, पीजीआई में ली अंतिम सांस

जुब्बल कोटखाई के विधायक और पूर्व मंत्री नरेंद्र बरागटा का शनिवार सुबह निधन हो गया था। बरागटा कोरोना संक्रमण ( corona infection) से ठीक होने के बाद पोस्ट कोविड अफेक्ट से जूझ रहे थे। वो 20-25 दिनों से पीजीआई में भर्ती थे। इसके बाद उनके पार्थिव शरीर को शिमला स्थित बीजेपी के प्रदेश कायार्लय लाया गया और वहां से उनके पैतृक गांव कोटखाई के टहटोली लाया गया। जहां पर लोग उनके अंतिम दर्शनों के लिए उमड़ पड़े।


यह भी पढ़ें: जयराम ठाकुर पहुंचे दिल्ली-तीन उपचुनाव से पहले पीएम मोदी से हो सकती है मुलाकात

बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष सुरेश कश्यप ( BJP State President Suresh Kashyap)ने कहा कि वर्तमान सरकार में मुख्य सचेतक नरेंद्र बरागटा का ऐसे समय में जाना पार्टी के लिए बहुत बड़ी क्षति है। उन्होंने पार्टी के विभिन्न दायित्वों का समय-समय पर निर्वहन किया है और जिस काम को उन्होंने करने का प्रण लिया उसे पूरा भी किया। सरकार में भी उन्होंने प्रदेश के बागवानों की सेवा की, स्वास्थ्य मंत्री एवं शिक्षा मंत्री और विभिन्न दायित्वों का निष्ठा पूर्वक निर्वहन किया। उन्होंने कहा कि आज जुब्बल, नावर एवं कोटखाई क्षेत्र के लिए लिए भी यह बहुत बड़ी क्षति है। नरेंद्र बरागटा ने हमेशा जनता की सेवा की है और अभी समस्याओं का समाधान किया है। वो एक लोकप्रिय नेता थे जिनका प्रदेश के विकास, विशेषकर बागवानी क्षेत्र, में बहुत योगदान रहा।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए Subscribe करें हिमाचल अभी अभी का Telegram Channel

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है