×

शादी से पहले तुम्हारे कितने ब्वॉयफ्रेंड थे?

शादी से पहले तुम्हारे कितने ब्वॉयफ्रेंड थे?

- Advertisement -

आदमी अपनी रायफल साफ कर रहा था…

गलती से गोली निकली और पत्नी मर गई।
आदमी डर गया और Police को फोन किया।
आदमी : साहब, बंदूक साफ करते करते गलती से मेरी पत्नी को गोली लग गई। उसकी मौत हो गई।
Police : आप शांति से चेक करें,
पहले चेक करें कि वह सचमुच मर गई है कि जिंदा है?
(तभी गोली चलने की आवाज आती है….फटाक)
आदमी : बोलिए साहब, अब आगे क्या?

 


 

 

 

 

 

 

एक आदमी ने भगवान से पूछा…

मैं सारा दिन काम करता हूं,
अपने परिवार के लिए इतनी मेहनत करता हूं
मेरी पत्नी पूरा दिन घर में रह कर करती क्या है?
उसकी जिंदगी बहुत सरल है..।
भगवान बोले-
क्यों न दो दिन के लिए तुम्हें पत्नी और तुम्हारी बीवी को पति बना देते हैं
आदमी मान गया..।
अगले दिन सुबह 5 बजे अलार्म बज गया..।
उसने उठ कर बच्चों का लंच बनाया, फिर बच्चों को तैयार कर स्कूल भेजा।
फिर पत्नी को उठा कर उनका नाश्ता बनाया..।
पत्नी के जाने के बाद घर साफ किया..।
अभी नाश्ता करने ही बैठा कि कामवाली आ गई..।
वो गई तो बच्चों के स्कूल से आने का टाइम हो गया..।
उन्हें खाना खिलाया और होमवर्क करने बिठाया।
शाम के खाने की तैयारी कर के बच्चों की इवनिंग क्लास में ले गया..
शाम को पत्नी के आने पर खाना परोसा तो पत्नी ने उसमें 4 कमियां निकाल दी..।
अगले दिन सुबह उठकर सबसे पहले भगवान से प्रार्थना की कि भगवान मुझे वापस आदमी बना दो..।
मुझे समझ आ गया कि औरत कितना काम करती है..।
यहां तक की कहानी आप सभी ने पढी है……….।।
अब आगे. ..
Kahaani Mein Twist..
भगवान बोले :
वैसे तो तुझे 2 दिन के लिए औरत बनना था..
लेकिन अब मैं चाह कर भी तुझे आदमी नहीं बना सकता क्योंकि कल रात तू प्रेग्नेंट हो गया है..

 

 

 

 

 

 

दो बचपन के दोस्त बहुत सालों बाद मिले…

पहला दोस्त : कितने बच्चे हैं…??

दूसरा दोस्त : मेरे 4 लड़के हैं..!!

पहला दोस्त : क्या करते हैं…??

दूसरा दोस्त : पहला MBA.. दूसरा MCA.. तीसरा M.TECH.. और चौथा चोर है..

पहला दोस्त : तो फिर चोर को घर से निकालते क्यों नही….?

दूसरा दोस्त : वही तो कमाता है… बाकी सब तो ‘बेरोजगार’ हैं ..

 

 

 

 

 

 

 

गुप्ता जी : मैं तुम्हारी शादी अपनी मर्जी से करूंगा….

बेटा : नहीं
.
गुप्ता जी : लड़की अडानी की बेटी है
.
बेटा : फिर ठीक है
.
गुप्ता जी अडानी के पास गए
.
गुप्ता जी :
मैं तुम्हारी बेटी को बहू बनना चाहता हूं
.
अडानी : नहीं
.
गुप्ता जी : मेरा बेटा वर्ल्ड बैंक का C.E.O है
.
अडानी :
फिर ठीक है
.
गुप्ता जी वर्ल्ड बैंक के President के पास जाते हैं
.
गुप्ता जी : मेरे बेटे को वर्ल्ड बैंक का C.E.O बना दो
.
President
: नहीं
.
गुप्ता जी : मेरा बेटा अडानी का दामाद है
.
President : फिर ठीक है
.
अब बेटा खुश, अडानी खुश, President खुश, लड़की खुश और सबसे ज्यादा गुप्ता जी खुश
.
बाप आखिर बाप होता है 🙂

 

 

 

 

 

 

 

एक सीधा साधा सब्जी वाला सोसायटी में सब्जी बेचता था…

बहुत सारी औरतें उससे उधार सब्ज़ियां लेती थी
और वो चुपचाप बिना किसी नखरे के उनको दे देता था।
फिर अपनी कापी में लिख लेता था किसने ने कितना देना है और किसका बकाया है।
पर हैरानी की बात है वो किसी का नाम भी नहीं जानता था
हां ! पर पूछने पर सबको बिल्कुल सही हिसाब-किताब बताता था
एक दिन उसकी कापी औरतों ने छुपा ली, सिर्फ यह देखने के लिए कि वह हिसाब-किताब कैसे रखता है ?????
जब उन्होंने खोल कर पढ़ी तो मुंह खुले के खुले रह गए
खाता ऐसे लिखा था
बिल्ली जैसी आंख वाली 20 रु
दबी नाक वाली 18 रु
सड़ी शक्ल 15 रु
हूरपरी 90 रु
महाकंजूस 42 रु
गौरी पंजाबन 34 रु
पतली कमर 40 रु
भूरी भैंस 45 रु
मोरनी चाल 20 रु
कलूटी 51 रु
मोटी मंगती 78 रु
जाटनी 49 रु
मेरी जान 33 रु
हिली हुई 25 रु
रामू की जान 35 रु
नकचड़ी 12 रु
ऊंचे दांत 10 रु
आग का गोला 75 रु
रोतली सूरत 15 रु
440 वोल्ट 28 रु
झगड़ालू 46 रु
झांसी की रानी 62 रु
भुक्कड़ 30 रु
बिजली का खंभा 81रु
गेली 15 रु
कचरा : 40 रु
काली वाली जाड़ी : 45 रु

 

 

 

 

 

 

 

शादी से पहले तुम्हारे कितने ब्वॉयफ्रेंड थे?

शादी के बाद एक पति ने अपनी पत्नी से पूछा :

शादी से पहले तुम्हारे कितने ब्वॉयफ्रेंड थे?

मेरी बेवफाई का राज उस डिब्बे में है।
पति ने बक्सा खोलकर देखा तो उसमें 100 रुपए और 3 चावल के दाने थे।
पति ने पत्नी से सवाल किया कि ये क्या है?
पत्नी : मैंने जब भी कोई नया ब्वॉयफ्रेंड बनाया तो 1 चावल का दाना इसमें डाल दिया।
पति : और ये 100 रुपए?
पत्नी : 2 किलो चावल हो गए थे, इसलिए बेच दिए।

 

 

 

 

 

 

एक औरत सड़क पर गोद में अपने बच्चे को लेकर रोए जा रही थी….

तभी वहां से गुप्ता जी गुजर रहे थे। गुप्ता जी ने उसके रोने का कारण पूछा।
औरत बोली, बच्चा बीमार है और दवा के लिए पैसे नहीं हैं।
गुप्ता जी ने जेब से 1,000 का नोट दिया और कहा कि जाओ, जाकर दवाई ले आओ
बच्चे के लिए कुछ खाना और दूध भी ले लेना।
बाकी जो बचे, मुझे लाकर लौटा देना, मैं यहीं खड़ा हूं।
थोड़ी देर बाद औरत आई और 800 रुपए लौटाती हुए बोली कि 100 रुपए डॉक्टर ने लिए, 60 रुपए का खाना और 40 रुपए का दूध आया है।
गुप्ता जी बड़े खुश हुए और सोचने लगे कि नेकी कभी बेकार नहीं जाती।
डॉक्टर को फीस भी मिल गई, बच्चे को दवा, दूध और खाना भी मिल गया और मेरा नकली नोट भी चल गया।

 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है