×

नेरवा में घर के बाहर से डेढ़ साल के बच्चे को उठा ले गया तेंदुआ

अस्पताल पहुंचने से पहले ही हुई मौत

नेरवा में घर के बाहर से डेढ़ साल के बच्चे को उठा ले गया तेंदुआ

- Advertisement -

नेरवा। हिमाचल प्रदेश के ग्रामीण इलाकों में जंगली जानवरों ( Wild animals)का खौफ बना हुआ है। ये जानवर रिहायशी इलाकों में घुसकर लोगों को अपना शिकार बना रहे हैं। ऐसा ही कुछ चौपाल उपमंडल की ग्राम पंचायत रुसलाह में भी हुआ यहां पर एक डेढ़ साल के बच्चे को तेंदुआ ( Leopard) उठा ले गया। जब बच्चे के परिजनों ने शोर मचाया तो कुछ दुरी पर तेंदुआ बच्चे को छोड़ कर भाग गया । माता-पिता घायल बच्चे के नेरवा अस्पताल ( Nerwa Hospital) लेकर आए लेकिन यहां पर डॉक्टर ने बच्चे को मृत घोषित कर दिया। बच्चे का पोस्टमार्टम करवाकर परिजनों को सौंप दिया है।


यह भी पढ़ें :- Chamba: मवेशियों को चरा रही थी युवती, आ धमका तेंदुआ- बकरी को बनाया शिकार

 

घटना गत रात साढ़े आठ बजे की है। ग्राम पंचायत रुसलाह शेईला गांव में रह रहे नेपाली मूल के व्यक्ति दिनेश बहादुर की पत्नी कविता देवी खाना बना रही थी। अचानक उनका बच्चा दरवाजे से बाहर निकला। तभी वहां पर घात लगा कर बैठा तेंदुआ बच्चे पर झपट पड़ा तथा उसने बच्चे को उठाकर दूर पटक दिया। जैसे ही बच्चे की मां कविता देवी ने तेंदुए को देखा तो वह जोर-जोर से चीखने लगी। जब दिनेश बहादुर व आसपास के लोगों ने पीछा किया तो कुछ दूरी पर बच्चे को घायल अवस्था में पाया।

घायल बच्चे को उपचार के लिए सिविल अस्पताल नेरवा लाया गया लेकिन वहां पर चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। प्रशासन की ओर से पीड़ितों को अभी तक कोई भी फौरी राहत नहीं दी गई। तहसीलदार नेरवा अरुण कुमार शर्मा का कहना है कि यह मामला वन विभाग का है। इसकी सूचना वन विभाग को दे दी है। उधर डीएफओ चौपाल का कहना है कि जैसे ही पोस्टमार्टम की रिपोर्ट आती है जो भी मुआवजा होगा वह पीड़ित परिवार को दिया जाए। स्थानीय लोगों का कहना है कि उन्होंने फॉरेस्ट विभाग को दो-तीन बार पहले भी तेंदुए की इस इलाके में चहलकदमी को लेकर लिखित रूप में शिकायत की थी लेकिन आज तक इस पर कोई भी कार्रवाई नहीं की।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है