Covid-19 Update

2,21,826
मामले (हिमाचल)
2,16,750
मरीज ठीक हुए
3,711
मौत
34,108,996
मामले (भारत)
242,470,657
मामले (दुनिया)

डॉ. Rajesh Sharma की माता उर्मिल पंचतत्व में विलीन, लोगों ने दी अश्रुपूर्ण विदाई

डॉ. Rajesh Sharma की माता उर्मिल पंचतत्व में विलीन, लोगों ने दी अश्रुपूर्ण विदाई

- Advertisement -

कांगड़ा। श्री बालाजी अस्पताल कांगड़ा(Shree Balaji Hospital Kangra) के सीएमडी डॉ. राजेश शर्मा की माता उर्मिल शर्मा का आज सुबह कांगड़ा स्थित शमशान घाट पर अंतिम संस्कार कर दिया गया।लोगों ने उन्हें अश्रुपूर्ण विदाई दी। डॉ. राजेश शर्मा ने उनकी चिता को मुखाग्नि दी। नगर परिषद की पूर्व अध्यक्ष उर्मिल शर्मा का मंगलवार सुबह कांगड़ा स्थित निवास स्थान पर देहांत हो गया था। वह बीते कुछ समय से अस्वस्थ चल रहीं थीं। उर्मिल शर्मा नगर परिषद के वर्षों तक अध्यक्ष रहे स्व पंडित बालकृष्ण शर्मा की पत्नी थीं। वर्तमान में उर्मिल शर्मा की बहू कोमल शर्मा नगर परिषद की अध्यक्ष हैं।

ये भी पढ़ेः पंडित Balkrishna Sharma की पत्नी Urmil Sharma का निधन, कांगड़ा स्थित घर पर ली अंतिम सांस

 

पंडित बालकृष्ण शर्मा परिवार का कांगड़ा में एक बड़ा नाम रहा है। कांगड़ा में कभी ना भुलाया जा सकने वाला ये परिवार हमेशा से ही समाजसेवा में आगे रहा है। इसलिए उर्मिल शर्मा के पति पंडित बालकृष्ण शर्मा को उनके कार्यों और कृतित्वों को देखते हुए उन्हें युग पुरुष कहा जाता है। अपने जीवन में समाज सेवा के इतने कार्य उन्होंने किएए कि लोग स्वयं ही उन्हें मसीहा के तौर पर देखने लगे थे। उर्मिल शर्मा बेहद मधुर स्वभाव की महिला थीं, वह नगर परिषद की अध्यक्ष रहते हुए भी हमेशा आमजन की भलाई के लिए ही काम करती रहीं।

 

 

एक बेटा व तीन बेटियां हैं

सालिग राम के घर 24 मार्च 1946 को जन्मी उर्मिल शर्मा को बचपन में निम्मों कहकर पुकारते थे। माता प्रेम लता की बेटी उर्मिल ने पांचवी तक की शिक्षा राजकीय प्राइमरी विद्यालय कांगड़ा व उसके आगे की शिक्षा सेंट हिल्स हाई स्कूल कांगड़ा में ग्रहण की। उसके बाद उन्होंने प्रभाकर की व उसके बाद उनका 21 जनवरी, 1964 को विवाह हो गया। उनके चार बच्चें हैं, जिनमें एक बेटा व तीन बेटियां हैं। उनमें डॉ. राजेश शर्मा सबसे बड़े हैं और रेखा, सरोज व सरूचि बेटियां हैं।

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है