Covid-19 Update

2,27,518
मामले (हिमाचल)
2,22,911
मरीज ठीक हुए
3,835
मौत
34,633,255
मामले (भारत)
265,951,834
मामले (दुनिया)

जेल में कैदी ऐसे करते हैं खरीददारी, पैसों की नहीं पड़ती जरूरत

जेल में कैदियों को पैसे रखना होता है जुर्म

जेल में कैदी ऐसे करते हैं खरीददारी, पैसों की नहीं पड़ती जरूरत

- Advertisement -

हर इंसान की अपनी जरूरतें होती हैं और उन जरूरतों को पूरा करने के लिए हर किसी के पास कोई न कोई साधन जरूर होता है। आम जनता अपना जरूरत का सामान दुकानों से खरीदती है। आम लोगों की तरह जेल में रह रहे कैदियों के लिए भी दुकानें होती हैं। कैदी इन दुकानों से कुछ भी खरीद सकते हैं। जेल में पैसों की जगह कूपन इस्तमेाल किए जाते हैं।

यह भी पढ़ें: पोचमपल्‍ली है दुनिया का सर्वश्रेष्ठ पर्यटन गांव, सिल्क सिटी के नाम से है मशहूर

जेल में नोट या पैसे नहीं चलते हैं। जेल में पैसे रखना जुर्म होता है। जेल में कैदी भारतीय मुद्रा की जगह जेल के पैसे अपने पास रखते हैं और इन पैसों को रखने की भी एक लिमिट होती है। यह कूपन पुराने जमाने की टिकट की तरह होती हैं। इन पर 1, 2, 5, 10 और 20 लिखा होता है। इसे जेल की करेंसी भी कहा जाता है। जेल में कैदियों के लिए दुकानों के साथ-साथ सरकारी कैंटीन भी होती है, जिसमें रोज के इस्तेमाल का सामान मिलता है। जेल की कैंटीन से कैदी अपना जरूरत का सामान खरीद सकते हैं।

जानकारी के अनुसार, जेल में कूपन मिलने के दो जरिए होते हैं। कैदी के घर वाले जेल में कैदी के लिए पैसे जमा करवाते हैं, जिसके आधार पर कैदी को पैसे मिल जाते हैं। कैदी के घर वालों ने जितने रूपये कैदी के लिए जमा करवाएंगे कैदी को उतने ही कूपन जेल से दिए जाते हैं। इसके अलावा कैदी जितना काम जेल में करेंगे उसी हिसाब से उनको जेल से कूपन दिए जाएंगे। कैदी ये कूपन जमा करते रहते हैं और फिर इसी से वह अपना दिनचर्या का सामान खरीदते हैं। वहीं, जब
कैदी की सजा खत्म होती है तो कैदी जमा किए हुए कूपन को जेल में जमा करवा कर बदले में पैसे ले सकता है।

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

- Advertisement -

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है