हिमाचल प्रदेश चुनाव परिणाम 2022

BJP

25

INC

40

अन्य

3

हिमाचल प्रदेश चुनाव परिणाम 2022 लाइव

3,12, 506
मामले (हिमाचल)
3, 08, 258
मरीज ठीक हुए
4190
मौत
44, 664, 810
मामले (भारत)
639,534,084
मामले (दुनिया)

राकेश पठानिया ने बताया, हम क्यों हारे उपचुनाव, मंत्रिमंडल फेरबदल पर कही बड़ी बात

बीजेपी कार्यसमिति की बैठक में होगा हार पर मंथन, सीएम जयराम के नेतृत्व में लड़ा जाएगा अगला चुनाव

राकेश पठानिया ने बताया, हम क्यों हारे उपचुनाव, मंत्रिमंडल फेरबदल पर कही बड़ी बात

- Advertisement -

धर्मशाला। वन मंत्री राकेश पठानिया (Forest Minister Rakesh Pathania) ने कहा कि अति आत्मविश्वास से हम उप चुनाव हारे हैं। पर अब 2022 जीत की तैयारी में जुट गए हैं। इस हार से सबक लेते हुए बीजेपी (BJP) अब 2022 की तैयारी को लेकर आगे है। पार्टी के वरिष्ठ नेताओं जेपी नड्डा, शांता कुमार, प्रेम कुमार धूमल सहित अन्य वरिष्ठ नेतृत्व एकजुट होकर पार्टी को संभाले हुए हैं। उप चुनाव में हार के क्या कारण रहे, इन सब बातों को लेकर शिमला में होने वाली प्रदेश बीजेपी कार्यसमिति की बैठक में चर्चा भी होगी। उन्होंने कहा कि आने वाले विधानसभा चुनाव सीएम जयराम ठाकुर (CM Jai Ra Thakur) के नेतृत्व में ही लड़े जाएंगे।

यह भी पढ़ें: हिमाचल: BJP ने लोगों को मूर्ख बनाने का किया काम, चुनाव में देंगे मुंहतोड़ जवाब- राठौर

उन्होंने इन अफवाहों का भी खंडन किया है कि प्रदेश मंत्रिमंडल (Cabinet) में कोई फेरबदल हो रहा है। राकेश पठानिया ने कहा कि आज धर्मशाला (Dharamshala) में केंद्रीय विश्वविद्यालय व कांगड़ा हवाई अड्डा (Kangra Airport) विस्तार को लेकर भी अधिकारियों से चर्चा की है। धर्मशाला जदरांगल में 25 हैक्टेयर भूमि सीयू के नाम है, धर्मशाला व देहरा में एक साथ ही निर्माण कार्य भी शुरू होंगे। जहां तक बात कांगड़ा हवाई अड्डे के विस्तार को लेकर है सरकार इसके प्रति गंभीर है। शीघ्र ही हवाई अड्डे का विस्तार होगा। इसे लेकर प्रदेश सरकार केंद्र से दिसंबर माह में मामला उठाने जा रही है।

वन कटान को लेकर पांच वर्षीय योजना पर होगा काम

उन्होंने कहा कि नगर निगम में कई पदों के रिक्त होने की जानकारी उन्हें भी है, सरकार से इस मामले को उठाया जाएगा, ताकि लोगों को अपने कामों के लिए किसी तरह की परेशानी का सामना ना करना पड़े। प्रदेश में वन कटान (खुदरो दरख्तान) को लेकर अब पांच वर्षीय योजना पर कार्य होगा। इससे जमींदारों को भी लाभ मिलेगा। पहले दस वर्ष बाद पेड़ कटान की अनुमति होती थी। वन मंत्री राकेश पठानिया ने कहा कि वन भूमि में एफसीए व एफआए को खत्म करने की अपील भी सुप्रीम कोर्ट में की जाएगी, ताकि विकास कार्यों में अड़ंगा बनने वाली वन भूमि से लोगों को निजात मिल पाए।

 

 

बागवानों को दी जाएगी सदाबहार आम की पौध

पठानिया ने कहा कि जिला कांगड़ा, हमीरपुर, ऊना व बिलासपुर में शीघ्र ही सदा बहार आम की पौध भी बागवानों को दी जाएगी। उन्होंने बताया कि इस योजना को लेकर विभाग द्वारा काम किया जा रहा है और आने वाले दो महीनों के भीतर ही सीएम जमराम योजना का शुभारंभ करेंगे। उन्होंने बताया कि यह सदाबहार आम (Evergreen Mango) वर्ष में दो बार फल देगा। इस पूरी परियोजना का खाका तैयार किया जा रहा है। ऐसे ही अमरूद व संतरे के उत्पादन के विविधिकरण को लेकर भी योजना तैयार की जा रही है। उन्होंने बताया कि सदा बहार आम के पौध लगने से किसान व बागवानों सहित युवाओं को भी रोजगार के अवसर प्रदान होंगे। इस आम के पौधे को कम भूमि या फिर लोग अपने गमलों में भी लगा सकेंगे।

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

 

 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है