Covid-19 Update

2,21,203
मामले (हिमाचल)
2,16,124
मरीज ठीक हुए
3,701
मौत
34,043,758
मामले (भारत)
240,610,733
मामले (दुनिया)

हिमाचल: ग्लेशियर में फंसे पर्वतारोही दल का हुआ रेस्क्यू, आज चांगो धार रुकेगा दल, अब तक दो की टूट चुकी हैं सांसें

रेस्क्यू दल मंगलवार को सुबह साढ़े तीन बजे पिन घाटी के काह गांव से हुआ रवाना

हिमाचल: ग्लेशियर में फंसे पर्वतारोही दल का हुआ रेस्क्यू, आज चांगो धार रुकेगा दल, अब तक दो की टूट चुकी हैं सांसें

- Advertisement -

लाहुल-स्पीती। खंमीगर ग्लेशियर में फंसे पर्वतारोहियों को रेस्क्यू (Rescue) करने के लिए रेस्क्यू दल मंगलवार को सुबह साढ़े तीन बजे पिन घाटी के काह गांव से रवाना हुआ, लेकिन पर्वतारोही दल के 14 सदस्य धार चांको में रेस्क्यू दल को मिल गए। पर्वतारोही दल ने दोनों शवों को खंमीगर ग्लेशियर पर ही छोड़ कर नीचे उतरने का फैसला किया था। देर शाम तक 14 पर्वतारोही स्पीति के काह बेस कैंप तक पहुंच जाएंगे। इधर, रेस्क्यू टीम दोनों शवों को लाने के लिए बुधवार सुबह रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू करेगी। वहीं, रेस्क्यू दल आज धार चांगो में ही रुकेगा।

यह भी पढ़ें:हिमाचल: खंमीगर ग्लेशियर में फंसे ट्रैकिंग दल का रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू

 

 

लाहुल डीसी नीरज कुमार (Lahaul DC Neeraj Kumar) ने बताया कि एडीएम मोहन दत्त शर्मा ने सुबह रेस्क्यू दल को संबंधित दिशा निर्देश दिए हैं। वहीं, दो पुलिसकर्मी हेड कांस्टेबल करतार सिंह और कांस्टेबल अश्विनी कुमार काह गांव में बने बेस कैंप में तैनात किए गए हैं। रेस्क्यू दल जीपीएस सिस्टम से लैस हैं। इसके साथ ही रहने खाने पीने का सारा सामान रेस्क्यू दल के पास मौजूद है। 14 पर्वतारोही सदस्य रेस्क्यू दल को मिल गए है। अभी बेस कैंप की ओर आधे रेस्क्यू दल के साथ आ रहे है। इन्हें फिर काजा सीएचसी लाया जाएगा। रेस्क्यू दल में 16 जवान आईटीबीपी और 6 सदस्य डोगरा स्काउट के हैं। इसके अलावा 10 पोटर यानी बोझा उठाने वाले हैं। बता दें कि माउंटेनियरिंग फाउंडेशन पश्चिम बंगाल का पर्वतारोही दल 15 सितंबर को बातल से काजा के लिए वाया खंमीगर ग्लेशियर से रवाना हुआ था, लेकिन बर्फबारी के कारण आगे का सफर करने में दल असमर्थ हो गया।

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

 

 

- Advertisement -

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है