Covid-19 Update

2,06,027
मामले (हिमाचल)
2,01,270
मरीज ठीक हुए
3,505
मौत
31,655,824
मामले (भारत)
198,557,259
मामले (दुनिया)
×

गिरि नदी में फंसे लोगों को किया रेस्क्यू , रात भर टापू में फंसा रहा एक परिवार

रात भर एसडीएम व डीएसपी बढ़ाते रहे लोगों का हौंसला

गिरि नदी में फंसे लोगों को किया रेस्क्यू , रात भर टापू में फंसा रहा एक परिवार

- Advertisement -

पांवटा साहिब। सिरमौर जिला में गिरि नदी( Giri River) में फंसे एक परिवार के चार सदस्यों को रेस्क्यू कर लिया है। मंगलवार सुबह पूरे परिवार को सुरक्षित निकाला गया। रात भर यह परिवार टापू पर फंसा रहा और प्रशासनिक अधिकारी इनका हौंसला बढ़ाते रहे। जाहिर है सोमवार को अचानक जलस्तर बढ़ने से गुज्जर समुदाय के चार सदस्यों का एक परिवार ( family) टापू में फंस गया था। बांगरन गांव के डोरियोंवाला के पास गुज्जर समुदाय के सदस्यों के फंसने की सूचना रात को ही एसडीएम व डीएसपी ( SDM and DSP) को दी गई। सूचना मिलते ही एसडीएम और डीएसपी ने बिना समय गवाएं रात को ही बांगरण पुल के पास पहुंचे और उनसे फोन पर बातचीत कर उन पर पूरी रात निगरानी रखी। इस दौरान अधिकारी फोन से परिवार के सदस्यों का हौंसला बढ़ाते दिखे। जलस्तर कम होने के बाद इस परिवार को बाहर सुरक्षित जगह पहुंचाया गया।

ये भी पढ़ेः सिरमौर में गिरि नदी के बीच टापू पर फंसे एक परिवार के चार सदस्य

पांवटा साहिब उपमंडल में बांगरन गांव के डोरियोंवाला के पास टापू में बीते दिन गिरी नदी की चपेट में आए गुर्जर परिवार को एसडीएम पांवटा विवेक महाजन की अगुवाई में रेस्क्यू किया गया है। रेस्क्यू के दौरान मौके पर डीएसपी वीर बहादुर सिंह, होमगार्ड के जवान व स्थानीय गोताखोर भी मौजूद रहे। एसडीएम विवेक महाजन ने बताया कि बीते दिन रात 10 बजे इस टापू पर एक गुर्जर परिवार के चार लोगों के फसे होने की सूचना प्राप्त हुई थी जिसके तुरंत बाद प्रशासन की टीम मौके पर पहुंची। अधिक बारिश व जटोन बेराज के गेट खोलने के कारण गिरी नदी का जल स्तर काफी बढ़ गया था जिसके कारण आधी रात को रेस्क्यू करना संभव नहीं था। उन्होंने बताया कि आज प्रातः 5 बजे बारिश रूकने के बाद प्रशासन ने रेस्क्यू का कार्य शुरू किया जिसमें गुर्जर परिवार के चारों सदस्य व 30 पशुओं को सुरक्षित बचा लिया गया। उन्होंने बताया कि सुबह के समय दो महंतों के मंन्दिर में फसे होने की सूचना प्राप्त हुई जिन्हें भी गुजर परिवार सहित बचा लिया गया है।


विवेक महाजन ने बताया कि प्रशासन ने चंडीगढ़ से एनडीआरएफ की टीम को सूचित कर मौके पर बुलाया गया था लेकिन एनडीआरएफ की टीम के पहुंचने से पहले ही प्रशासन ने रेस्क्यू कर सभी को सुरक्षित स्थान पर पहुंचा दिया जिसके बाद एनडीआरएफ की टीम से सम्पर्क कर उन्हें वापिस भेज दिया गया। उन्होंने बताया कि जिला में अधिक बारिश के कारण नदियों का जल स्तर उफान पर है जिसके चलते प्रशासन ने जगह-जगह होर्डिग्स व गाड़ियों में लॉउडस्पीकर के माध्यम से लोगों को नदियों के किनारे न जाने की अपील की जा रही है। इसके अतिरिक्त, किसी भी अप्रीय घटना को रोकने के लिए प्रशासन ने सभी तैयारिया कर ली हैं।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए Subscribe करें हिमाचल अभी अभी का Telegram Channel…

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है