Covid-19 Update

3,12, 188
मामले (हिमाचल)
3, 07, 820
मरीज ठीक हुए
4189
मौत
44,583,360
मामले (भारत)
622,055,597
मामले (दुनिया)

पोस्ट ऑफिस में आपका खाता है, तो अब कुछ इस तरह मिलेंगे ब्याज के पैसे-जान लें

पोस्ट ऑफिस ने सर्कुलर जारी कर इंट्रेस्ट पेमेंट पर किया है बड़ा ऐलान

पोस्ट ऑफिस में आपका खाता है, तो अब कुछ इस तरह मिलेंगे ब्याज के पैसे-जान लें

- Advertisement -

पोस्ट ऑफिस के ग्राहकों के लिए जानना जरूरी है कि पोस्ट ऑफिस सेविंग स्‍कीम्‍स से जुड़े रूल भी बदल गए हैं। इंडिया पोस्ट (India Post) ने अब सेविंग पर मिलने वाला ब्याज के नियमों (Interest Rules) को बदल दिया है। पोस्ट ऑफिस ने एक सर्कुलर जारी कर इंट्रेस्ट पेमेंट को लेकर भी बड़ा ऐलान किया है। इसमें बताया गया है कि पहली अप्रैल 2022 से पोस्ट ऑफिस मंथली इनकम स्कीम, सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम, पोस्ट ऑफिस फिक्स्ड डिपॉजिट पर इंट्रेस्ट का भुगतान कैश में नहीं किया जाएगा। इंट्रेस्ट का भुगतान केवल अकाउंट होल्डर के पोस्ट ऑफिस सेविंग अकाउंट (Post Office Savings Account) या बैंक अकाउंट में किया जाएगा। अगर किसी अकाउंट होल्डर ने अपने बैंक डिटेल को सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम, मंथली इनकम स्कीम या टर्म डिपॉजिट के साथ लिंक नहीं किया है तो टोटल इंट्रेस्ट का भुगतान या तो चेक की मदद से किया जाएगा या फिर उसके पोस्ट ऑफिस सेविंग अकाउंट में किया जाएगा।

यह भी पढ़ें:पोस्ट ऑफिस के नियमों में हुआ बदलाव, बिना पासबुक के नहीं होगा कोई भी काम

ये नियम पोस्ट ऑफिस के सभी ग्राहकों (Customers) के लिए लागू होगा चाहे आप ब्याज का पैसा मासिक,तिमाही या वार्षिक रूप से लेते हो। इसके साथ ही बता दें यदि किसी ग्राहक ने अपनी बचत योजना से बैंक या पोस्ट ऑफिस का सेविंग अकाउंट लिंक नहीं किया है तो उन्हें 1 अप्रैल से दिक्कत हो सकती है। इसलिए सभी कस्टमर किसी भी परेशानी से बचने के लिए 31 मार्च 2022 से पहले पोस्ट ऑफिस स्कीम को सेविंग अकाउंट (Savings Account)से लिंक करा लें।

यह भी पढ़ें:पोस्ट ऑफिस से ब्याज मिलने का नियम बदल गया, जल्द करना होगा ये काम

अगर आपने 31 मार्च तक अपने दोनों अकाउंट को लिंक नहीं कराया तो पहली अप्रैल के बाद मिलने वाला ब्याज पोस्ट ऑफिस (Post Office) के विविध कार्यालय खाते में जमा कर दिया जाएगा। एक बार ब्याज की राशि विविध कार्यालय खाते में जमा होने पर यह केवल डाकघर के बचत खाते या चेक के द्वारा ही दी जाएगी। पोस्ट ऑफिस में 5 साल की मंथली इनकम स्कीम (Monthly Income Scheme) में ब्याज के पैसे का भुगतान मंथली किया जाता है, जबकि 5 साल वाली सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम का ब्याज का भुगतान तिमाही जाता है। वहीं टीडी अकाउंट का ब्याज सालाना आधार पर किया जाता है। पोस्ट ऑफिस में सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम, मंथली इनकम स्कीम या टर्म डिपॉजिट खुला है तो इंट्रेस्ट पर किसी तरह का इंट्रेस्ट नहीं मिलता है। इसका मतलब ये है कि इंट्रेस्ट का पैसा डेड मनी की तरह आपके अकाउंट में जमा रहेगा।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group… 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है