Covid-19 Update

3,12, 506
मामले (हिमाचल)
3, 08, 258
मरीज ठीक हुए
4190
मौत
44, 664, 810
मामले (भारत)
639,534,084
मामले (दुनिया)

Srinagar-Leh Highway आम लोगों के लिए बंद, भारतीय वायुसेना ने जारी किया Alert

Srinagar-Leh Highway आम लोगों के लिए बंद, भारतीय वायुसेना ने जारी किया Alert

- Advertisement -

लद्दाख। गलवान घाटी में हुई झड़प का मामला अभी ठंडा नहीं पड़ा था कि एलएसी (LAC) पर फिर तनाव बढ़ गया है। चीन ने एक बार फिर लद्दाख बॉर्डर पर घुसपैठ करने की कोशिश की। हालांकि चीनी सेना की इस कोशिश को भारतीय सेना के जवानों ने नाकाम कर दिया। इस घटना के बाद श्रीनगर-लेह हाइवे (Srinagar-Leh Highway) को आम लोगों के लिए बंद कर दिया गया है। अब इस हाइवे का इस्तेमाल सिर्फ सेना के वाहनों के लिए किया जाएगा। सीमा पर तनाव की स्थिति के मद्देनजर भी एयरफोर्स भी तैयार है। भारतीय वायुसेना ने अवंतिपोरा और अंबाला एयरबेस को अलर्ट (Alert) जारी किया है। वहीं, भारतीय सेना का उत्तरी कमांड लगातार 14 वाहिनियों के संपर्क में है। डीजीएमओ खुद सारी स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं।


ये भी पढ़े – लद्दाख में India-China सैनिकों के बीच फिर झड़प, भारतीय सेना ने दिया जवाब

 

लद्दाख बॉर्डर (Ladakh border) पर तेज हुई हलचल के बाद सोमवार सुबह ये फैसला लिया गया। इसके अलावा पैंगोंग झील के आसपास जो स्थानीय लोग रहते हैं उन्हें भी सुरक्षित स्थानों पर ले जाया गया है। बता दें कि रक्षा मंत्रालय के द्वारा जारी बयान के मुताबिक, 29-30 अगस्त की रात को चीनी सेना ने ईस्टर्न लद्दाख में पैंगोंग झील के पास घुसपैठ की कोशिश की। पिछली बैठकों में दोनों देशों की सेनाओं के बीच जो बैठकें हुईं और जो कुछ तय हुआ था, उस वादे को तोड़ने का काम किया गया।

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

भारतीय सेना (Indian Army) के जवानों ने चीन की हर कोशिश को नाकाम किया, ऐसे में अब लद्दाख बॉर्डर पर फिर अलर्ट बढ़ गया है। हालांकि, दोनों देशों के बीच ब्रिगेड कमांडर लेवल की बातचीत की जा रही है ताकि स्थिति को काबू में लाया जा सके। गौर हो कि मई महीने से ही दोनों देशों के बीच तनाव की स्थिति बनी हुई थी, जिसके बाद 14 जून को दोनों देशों की सेनाओं में झड़प हुई थी जिसमें भारतीय सेना के 20 जवान शहीद हुए थे, तभी से भारत ने बॉर्डर पर सैनिकों की मौजूदगी बढ़ा दी थी और चीन के द्वारा पैदा की जा रही हर स्थिति पर नज़र रखी जा रही थी।

- Advertisement -

loading...
Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




×
सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है