Covid-19 Update

2,05,017
मामले (हिमाचल)
2,00,571
मरीज ठीक हुए
3,497
मौत
31,341,507
मामले (भारत)
194,260,305
मामले (दुनिया)
×

Sushant की मौत का सदमा नहीं झेल पाईं भाभी, खाना-पीना छोड़ा, अंतिम संस्कार के समय तोड़ा दम

Sushant की मौत का सदमा नहीं झेल पाईं भाभी, खाना-पीना छोड़ा, अंतिम संस्कार के समय तोड़ा दम

- Advertisement -

मुंबई। बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) की मौत से उनका परिवार, फैन्स और पूरा बॉलीवुड सदमे में है। यही सदमा उनकी चचेरी भाभी झेल नहीं कर पाईं और उनकी भी मौत हो गई। बताया जा रहा है कि देवर सुशांत के आत्महत्या की खबर मिलने के बाद बिहार के पूर्णिया जिले में स्थित पैतृक गांव में रहने वाली भाभी सुधा देवी का निधन हो गया। सुशांत सिंह राजपूत का पैतृक गांव पुर्णिया जिले का मलडीहा है। सुशांत के आत्महत्या (Suicide) की खबर जैसे ही गांव में पहुंची तो उनकी चचेरी भाभी सुधा देवी को झटका लगा और वह भी डिप्रेशन में चली गईं। उन्होंने खाना-पीना छोड़ दिया। इधर, मुंबई में सुशांत का अंतिम संस्कार किया जा रहा था, उधर सुधा देवी के निधन की खबर आ गई।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group… 

 


मुंबई में हुआ सुशांत का अंतिम संस्कार

परिवार के करीबियों के मुताबिक, सुधा देवी की मौत लगभग उसी वक्त हुई जब सुशांत सिंह राजपूत का अंतिम संस्कार मुंबई (Mumbai) में हो रहा था। सुशांत की मौत के बाद अब उनकी चचेरी भाभी की भी मौत की वजह से परिवार में जैसे दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है। गौर हो कि सोमवार को मुंबई स्थित विले पार्ले के श्मशान घाट में सुशांत सिंह राजपूत को अंतिम विदाई दी गई। सुशांत के अंतिम संस्कार में कई सितारे पहुंचे। उनकी करीबी दोस्त रिया चक्रवर्ती भी अंतिम संस्कार में शामिल हुईं। अंतिम संस्कार के पहले दोपहर तक बिहार के पटना, पूर्णिया और सहरसा से सुशांत के पिता और परिजन मुंबई पहुंच गए थे। परिजन ये मानने के लिए तैयार ही नहीं थे कि सुशांत खुदकुशी भी कर सकते हैं, मगर पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट यही कह रही है कि सुशांत की मौत फंदे से झूलने से हुई। इस रिपोर्ट में शरीर में जहर होने या कोई और कारण का जिक्र नहीं है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है