मंडी के सुकेती पुल चौक पर लगी रेहड़ियों से हजारों का सामान ले उड़े चोर

पहले भी कई बार नकदी व सामान पर कर चुके हैं हाथ साफ

मंडी के सुकेती पुल चौक पर लगी रेहड़ियों से हजारों का सामान ले उड़े चोर

- Advertisement -

मंडी। शहर के सबसे व्यस्त चौक पर चोरों ने रेहड़ियों से हजारों रूपए के फल सब्जी के अलावा दूसरा सामान व नकदी उड़ा ली। शहर के बीचों बीच पुलिस चौकी व पुलिस थाना से महज चंद मीटर की दूरी पर चोरों ने गरीब रेहड़ी वालों पर जमकर हाथ चलाया। एक रेहड़ी वाला निक्का राम जब सुबह पांच बजे सब्जी मंडी जाने के लिए यहां से गुजर रहा था तो उसने देखा कि रात को जो उन्होंने रेहड़ियां रात को रस्सी आदि से बांध कर बंद की थी वह खुली हुई हैं। इस पर उन्होंने रेहड़ियों के अन्य मालिकों अंकित गुलाटी, सोनी व भाग सिंह आदि को सूचित किया।


यह भी पढ़े:हिमाचल: गगरेट के सरिया उद्योग में DGGI की दबिश, GST में हेराफेरी का शक; खंगाला रिकॉर्ड

जब आकर सबने अपने अपने सामान को देखा तो पाया कि अंकित गुलाटी जिसकी रेहड़ी पर सुनील कुमार काम करता है के सभी फल सेब, अनार, बैर, केले आदि के साथ साथ गल्ला व तोलने वाला कंडा भी गायब था। गल्ले में भी रेहड़ी का दो महीने का किराया 3 हजार रूपए के अलावा डेढ़ दो हजार कैश रखा था जो सब गायब हो चुका था। इसके अलावा भाग सिंह की रेहड़ी से भी सारी सब्जी व गल्ला कंडा गायब था। सोनू की रेहड़ी से भी सामान चोरी हो चुका था। सुनील कुमार ने बताया कि चोर क्रेट व छाब्बे भी साथ ही ले गए हैं। सोमवार को यूं भी ज्यादा सामान लाया जाता है और इस रात रेहड़ियां सामान से भरी हुई थी। ऐसे में चोर हजारों को माल ले उड़े हैं।

mandi

mandi

इन रेहड़ी लगाने वालों का कहना है कि इससे पहले भी यहां से नकदी आदि गायब होती रही है। छोटी मोटी चोरियां तो पहले होती रही हैं मगर अब तो चोरों ने कुछ भी नहीं छोड़ा। इस बारे में उन्होंने शहरी चौकी में रपट दर्ज करवा दी है तथा मांग की है कि इन चोरों को पकड़ा जाए। आस पास लगे सीसीटीवी कैमरों की रिकार्डिंग को देख कर इनका पता लगाया जाए क्योंकि गरीब लोग किसी तरह रेहड़ी फहड़ी लगाकर अपना जीवन यापन करते हैं मगर चोर उन्हें भी कंगाल करने में लगे हैं। पुलिस प्रशासन से यह भी मांग की गई है कि यहां पर गश्त बढ़ाई जाए ताकि जो असुरक्षा की भावना पैदा हुई है उससे कुछ राहत मिल सके।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

- Advertisement -

loading...
Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




×
सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है