Covid-19 Update

2,21,936
मामले (हिमाचल)
2,16,814
मरीज ठीक हुए
3,711
मौत
34,126,682
मामले (भारत)
242,810,096
मामले (दुनिया)

धरती पर एक और खतरा : Ozone layer में हुआ बड़ा छेद, हो सकते हैं ये नुकसान

धरती पर एक और खतरा : Ozone layer में हुआ बड़ा छेद, हो सकते हैं ये नुकसान

- Advertisement -

नई दिल्ली। कोरोना वायरस (Coronavirus) को लेकर लगाए गए लॉक डाउन (Lock down) के चलते जहां पहले ओज़ोन लेयर (Ozone Layer) के दुरुस्त होने की खबरें थीं, वहीं, अब वैज्ञानिकों का कहना है कि ओज़ोन लेयर में एक बड़ा छेद हो गया है जो आगामी समय में काफी बढ़ सकता है। वैज्ञानिकों के अनुसार, ये छेद करीब 10 लाख वर्ग किलोमीटर का है। उत्‍तरी ध्रुव पर आर्कटिक (Arctic) के ऊपर ओजोन लेयर में पड़ा ये छेद फिहाल तो अभी छोटा है लेकिन आने वाले तीन-चार महीने में ये दो से ढाई करोड़ वर्ग किमी तक फैल जाता है। वैज्ञानिकों (Scientists) का दावा है कि आर्कटिक के ऊपर बने इस नए छेद का कारण वातावरण में हो रहा परिवर्तन ही है, अत्याधिक ठंड के कारण ये छेद हुआ है।

यह परत पृथ्वी की सतह पर सूर्य से आने वाली हानिकारक अल्ट्रावॉयलेट किरणों (UV-Rays) को रोक देती है, जिससे पृथ्‍वी पर जीवन को लेकर कई समस्याएं हो सकती हैं।  इस दौरान अल्ट्रावॉयलेट किरणें सीधे धरती की सतह पर आती हैं। पहले भी वैज्ञानिकों को इस तरह के बहुत ही छोटे छेद आर्कटिक क्षेत्र के ऊपर दिखते रहे हैं। इस साल यह पहले की तुलना में बहुत बड़ा दिख रहा है।

ओजोन लेयर में छेद से आर्कटिक क्षेत्र में गर्मी बढेगी और यहां मौजूद बर्फ पिघलने की रफ्तार में इजाफा होगा। वहीं, यूवी रेज सीधे धरती की सतह पर पहुंचने से लोगों में स्किन कैंसर (skin cancer) जैसी गंभीर बीमारी के मामले बढ़ सकते हैं। स्किन कैंसर का एक और घातक स्‍वरूवप मेलेनोमा के मामलों में वृद्धि हो सकती है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है