Covid-19 Update

2,67,577
मामले (हिमाचल)
2, 53, 840
मरीज ठीक हुए
3961*
मौत
40,858,241
मामले (भारत)
370,456,718
मामले (दुनिया)

ये है दुनिया की सबसे खतरनाक जगह, इंसान ही नहीं जानवरों के जाने पर भी पाबंदी

यहां जगह-जगह लगाए गए हैं 'डेंजर जोन' के बोर्ड

ये है दुनिया की सबसे खतरनाक जगह, इंसान ही नहीं जानवरों के जाने पर भी पाबंदी

- Advertisement -

दुनिया में एक से बढ़कर एक खतरनाक और रहस्यमयी जगह (Mystical place) हैं जिनके बारे में शायद ही आप लोगों को जानकारी हो। ऐसी जगहों पर ज्यादातर लोग नहीं जाते, क्योंकि वहां से जुड़ी कई डरावनी कहानियां प्रचलित होती हैं। आज हम आपको एक ऐसी ही जगह के बारे में बताने जा रहे हैं, जो बिल्कुल वीरान है और वहां कोई आता-जाता भी नहीं है। दरअसल, 100 साल पहले इस जगह लोग रहा करते थे, लेकिन बाद में घटी एक घटना की वजह से अब वहां कोई भी नहीं जाता। यहां तक कि उस जगह पर जानवरों के भी जाने पर पाबंदी है। यह जगह फ्रांस के उत्तर-पूर्वी इलाके में स्थित है। यहां लोगों के नहीं आने के पीछे एक खतरनाक कहानी है।

यह भी पढ़ें: इस लड़की की टांगें हैं दुनिया में सबसे लंबी, Guinness Book में शामिल हुआ नाम

इस जगह का नाम ‘जोन रोग’ है। यह इतना खतरनाक है कि यहां जगह-जगह ‘डेंजर जोन’ (‘Danger Zone’) के बोर्ड लगाए हुए हैं। ऐसा इसलिए किया गया है कि अगर कोई गलती से भी इस जगह के आसपास आ गया तो वह यह बोर्ड पढ़कर आगे बढ़ने की गलती नहीं करेगा। हालांकि इस जगह को फ्रांस के बाकी जगहों से अलग-थलग रखा गया है, ताकि यहां तक कोई आ ना सके। इस जगह को ‘रेड जोन’ के नाम से भी जाना जाता है। कहा जाता है कि प्रथम विश्व युद्ध से पहले इस इलाके में कुल नौ गांव थे, जहां लोग रहते थे और खेती-बाड़ी कर अपना गुजारा करते थे, लेकिन विश्व युद्ध के समय इस जगह पर इतने बम-गोले गिरे कि पूरा का पूरा इलाका ही तहस-नहस हो गया, कई लोग मारे गए और यह जगह रहने लायक नहीं बची।

कहा जाता है कि इस पूरे इलाके में भारी मात्रा में केमिकल युक्त युद्ध सामग्री फैली हुई है, जिसकी वजह से यहां की जमीन जहरीली हो गई है। इतना ही नहीं, यहां की पानी में भी जानलेवा तत्व मिले हुए हैं। क्योंकि यह इलाका बहुत बड़ा है और पूरे इलाके की जमीन और पानी को केमिकल मुक्त बनाना संभव नहीं था, इसलिए फ्रांस सरकार ने यहां लोगों के आने पर ही पाबंदी लगा दी। साल 2004 में यहां की मिट्टी और पानी की जांच की गई थी, जिसमें भारी मात्रा में आर्सेनिक पाया गया था। आर्सेनिक एक ऐसा जहरीला पदार्थ है, जिसकी थोड़ी सी भी मात्रा अगर गलती से इंसान के मुंह में चला जाए तो कुछ ही घंटों में उसकी मौत भी हो सकती है। यही वजह है कि इस जगह पर कोई नहीं जाता।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है