Covid-19 Update

2,05,499
मामले (हिमाचल)
2,01,026
मरीज ठीक हुए
3,504
मौत
31,571,295
मामले (भारत)
197,365,402
मामले (दुनिया)
×

#Panchayatelection : वार्ड सदस्य का चुनाव भी नहीं जीत पाए सांसद के भाई, 20 वोटों से मिली हार

जलपेहड़ पंचायत के वार्ड नंबर तीन से वार्ड सदस्य का चुनाव हारे राम स्वरूप शर्मा के भाई त्रिलोक चंद शर्मा

#Panchayatelection : वार्ड सदस्य का चुनाव भी नहीं जीत पाए सांसद के भाई, 20 वोटों से मिली हार

- Advertisement -

मंडी। 2019 के लोकसभा चुनावों में मंडी संसदीय सीट से ऐतिहासिक जीत दर्ज करने वाले सांसद राम स्वरूप शर्मा (MP Ram Swaroop Sharma) के बड़े भाई त्रिलोक चंद शर्मा को वार्ड सदस्य (Ward Member) के चुनाव में हार का सामना करना पड़ा है। जोगिंद्रनगर उपमंडल के तहत आने वाली नवगठित जलपेहड़ पंचायत के वार्ड नंबर 3 से त्रिलोक चंद शर्मा वार्ड सदस्य के चुनाव के लिए मैदान में उतरे थे। उन्हें इसी वार्ड के हरनाम सिंह ने 20 वोटों से हराकर जीत दर्ज की है।

यह भी पढ़ें: Mukesh Agnihotri की ग्राम पंचायत गोंदपुर जयचंद में Congress समर्थित उम्मीदवारों ने दर्ज की जीत

बता दें कि जिस वार्ड से त्रिलोक चंद शर्मा ने चुनाव लड़ा उसी वार्ड में सांसद राम स्वरूप शर्मा का घर भी है। इस वक्त सभी इस बात को लेकर हैरानी जाहिर कर रहे हैं कि सांसद राम स्वरूप शर्मा खुद अपने घर में अपने बड़े भाई को चुनाव नहीं जीतवा सके। सोशल मीडिया (Social Media) पर यह खबर आग की तरह वायरल हो रही है और लोग इसपर जमकर चुटकियां भी ले रहे हैं। बता दें कि इससे पहले जिला ऊना (Una) में भी मुकेश अग्निहोत्री की ग्राम पंचायत गोंदपुर जयचंद में कांग्रेस समर्थित पूरी पंचायत ने जीत दर्ज की है। पंचायत में प्रधान पद से लेकर वार्ड पंच तक कांग्रेस समर्थित उम्मीदवार जीते हैं। पंचायत में प्रधान पद के उम्मीदवार अनूप अग्रिहोत्री ने बीजेपी समर्थित उम्मीदवार लखवीर लक्खी को 253 वोट से पटखनी दी है।


 

हिमाचल की इस पंचायत में पत्नी बनी प्रधान तो पति उपप्रधान

सुंदरनगर। हिमाचल में पंचायती राज चुनाव के प्रथम चरण के मतदान के बाद अब प्रधान उप प्रधान व वार्ड सदस्यों के नतीजे आने शुरू हो गए हैं। हिमाचल प्रदेश के जिला मंडी के गोहर विकासखंड की शाला पंचायत से एक दिलचस्प खबर सामने आ रही है। जानकारी के मुताबिक यहां पति-पत्नी ने प्रधान व उपप्रधान पद पर जीत हासिल की है। दरअसल यहां पर मीनाक्षी ठाकुर प्रधान बनीए जबकि इनके ही पति राजकुमार ठाकुर पंचायत के उपप्रधान बने हैं। बताया जा रहा है कि राजकुमार ठाकुर इससे पहले यहां प्रधान पद पर आसीन थे, और पंचायत के लिए कई विकास कार्य किए। लेकिन इस चुनाव में प्रधान पद की सीट महिला के लिए आरक्षित होने के कारण इन्होंने अपनी पत्नी को चुनावी मैदान में उतारा। जिन्होंने जीत भी हासिल कर ली है। वहीं राजकुमार ठाकुर खुद उप प्रधान पद के लिए चुनाव लड़ रहे थे, इन्होंने भी जीत हासिल की है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है