Covid-19 Update

2, 85, 012
मामले (हिमाचल)
2, 80, 818
मरीज ठीक हुए
4117*
मौत
43,138,393
मामले (भारत)
527,842,668
मामले (दुनिया)

हिमाचल: कंपनी ने सड़क खुदाई का मलबा खेतों के साथ फेंका, ग्रामीणों ने खोल दिया मोर्चा

महिलाओं ने रोक दिए कंपनी के ट्रक, की जमकर नारेबाजीच मांगी कार्रवाई

हिमाचल: कंपनी ने सड़क खुदाई का मलबा खेतों के साथ फेंका, ग्रामीणों ने खोल दिया मोर्चा

- Advertisement -

पांवटा साहिब। हिमाचल के सिरमौर (Sirmaur) जिला में एबीसीआई कंपनी के खिलाफ स्थानीय जनता ने मोर्चा खोल दिया है। ग्रामीण पांवटा साहिब-शिलाई नेशनल हाईवे पर कार्य कर रही एबीसीआई कंपनी द्वारा सतौन गांव के बीचोबीच खेतों के साथ खुदाई का मलबा फेंकने पर भड़क गए। माहौल उस समय ज्यादा तनावपूर्ण हो गया जब महिलाओं ने भी कंपनी के खिलाफ जोरदार नारेबाजी (Protest) शुरू कर दी। पुलिस ने मौके पर पहुंच कर माहौल को शांत करवाया। मिली जानकारी के अनुसार पांवटा सहिब (Paonta Sahib) में हाईवे 707 का निर्माण कार्य चल रहा है। पांवटा साहिब से सतौन तक का कार्य एबीसीआई कंपनी कर रही है। एबीसीआई कंपनी सतौन के आसपास सड़क को चौड़ा कर रही है, जिसके लिए खुदाई की जा रही है। कंपनी सड़क से खुदाई में निकलने वाला मलबा डंपिंग साईट में डालने के बजाय सतौन गांव के बीचबीच लोगों के खेतों के पास डाल रही है।

यह भी पढ़ें: हिमाचल: आरक्षण, एससीएसटी एक्ट शव यात्रा के विरोध में प्रदर्शन, अराजकता फैलाने के लगाए आरोप

रविवार को स्थानीय ग्रामीण ने मौके पर पहुंच कर मलबे से भरें ट्रकों को रोक दिया तथा महिलाओं ने कंपनी के खिलाफ जोरदार नारेबाजी की। इस दौरान लोगों ने प्रशासन से कंपनी के खिलाफ कारवाई करने की मांग की है। ग्रामीण राजेश कुमार, जगत सिंह, तरसेम, दीपचंद, निर्मला देवी, कमलेश देवी, बाला देवी, शिला देवी, रक्षा देवी, शरदा, सत्या देवी, जगिरो देवी, आशा देवी, योगेश कुमार, महेन्द्र कुमार, सीता राम, पूर्ण चंद, बलवीर सिंह आदि ने बताया की हमारे घर के नजदीक बरसात में पूरे क्षेत्र का पानी इकट्ठा होता है तथा घर के नजदीक कंपनी अपनी गाड़ियों से सड़क का मलबा फैंक रहे है। अगर यहां पर मलबा डाला गया तो हमारे घर को पानी से कटाव होने का खतरा पैदा हो जाएगा। वहीं, पांवटा साहिब के एसडीएम विवेक महाजन ने बताया की कंपनी डंपिंग साइड के इलावा कही भी मलबा नहीं डाल सकती, अगर कंपनी ने ऐसा किया होगाए तो कंपनी के खिलाफ कारवाई अमल में लाई जाएगी।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है