Covid-19 Update

3,12, 188
मामले (हिमाचल)
3, 07, 820
मरीज ठीक हुए
4189
मौत
44,583,360
मामले (भारत)
622,055,597
मामले (दुनिया)

गजब ! सेकेंड हैंड जूतों का बिजनेस कर लखपति बन गई ये महिला, जाने कैसे हुआ ये सब

9 हज़ार में खरीदा जूतों का जोड़ा और 15 हज़ार 500 में बेच दिया

गजब ! सेकेंड हैंड जूतों का बिजनेस कर लखपति बन गई ये महिला, जाने कैसे हुआ ये सब

- Advertisement -

आप ने अपने आसपास बहुत सारे लोगों के देखा होगा जो कई तरह का बिजनेस करते हैं कुछ सफल हो जाते हैं और कुछ असफल। कौन सा काम कब चल पड़े कोई नहीं जानता । कई बार हम बहुत अच्छे आइडिया लेकर काम शुरु करते हैं और वह उतना चलता नहीं है और कई बार कोई छोटा सा काम अच्छा निकल पड़ता है और उससे अच्छी- खासी कमाई भी हो जाती है। इसके पीचे मंत्र यही है कि आप को लोगों की सोच और पसंद का पता होना चाहिए फिर कारोबार चमकते देर नहीं लगती। अब इस महिला को देखिए जो सेकेंड हैंड जूतों का बिजनेस करके लखपति बन गई।

यह भी पढ़ें- दुनिया में सबसे ज्यादा बिकने वाली व्हिस्की की लिस्ट में टॉप पर भारत के ये चार ब्रांड, जानें यहां

टिकटॉकर प्रेप का कहना है कि जब उन्होंने कारोबार के बारे में योजना बनानी शुरु की तो उसमे सिर्फ जूतों की खरीद बिक्री को शामिल किया। उन्होंने सबसे पहले तो सेकेंड हैंड नीले जॉर्डन ट्रेनर शूज़ का एक जोड़ा खरीदा 9 हज़ार में खरीदा, फिर अच्छे से साफ कर उसकी क्रीज़ को आयरन कर उसे 15 हज़ार 500 में बेच दिया, यानि शिपिंग कॉस्ट आने के पहले ही उसने एक जोड़ी जूते पर करीब 6 हज़ार का मुनाफ कमा लिया था। फिर ऐसे ही एक और ब्रांड के शूज़ खरीद कर उसे भी 4 से 5 हज़ार के फायदे में बेचा। इसके बाद उसने लाल जॉर्डन की एक जोड़ी जूते 5 हज़ार में खरीदे फिर उसे अच्छे से साफ सुथरा कर करीब 19 हज़ार में बेच दिया। उसी तरह क्रम चलता रहा और महिला पुराने सेकेंड हैंड जूतों को खरीदती और फिर उसे अच्छी तरह क्लीन करती। उसे चेक कर दुरुस्त करती और खर्च की गई रकम की तुलना में दोगुना से ज्यादा दाम लगाकर बेच दिया करती थीं। उनकी इस ट्रिक्स ने न सिर्फ उनका बिज़नेस चल निकला। उन्हें कम लागत में बढ़िया मुनाफेदार बिजनेस आइडिया भी मिल गया जिसकी बदौलत वो अब दूसरे को बिज़नेस ट्रिक्स के आइडिया देने लगी हैं। हालांकि उन्होंने ये भी चेताया कि ज़रूरी नहीं हर किसी को ऐसी सफलता मिल ही जाए, लिहाज़ा ऐसा कुछ ट्रॉय करने से पहले थोड़ा सजग रहे।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group… 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है