Covid-19 Update

2,22,890
मामले (हिमाचल)
2,17,495
मरीज ठीक हुए
3,721
मौत
34,200,957
मामले (भारत)
244,634,716
मामले (दुनिया)

हिमाचल के इस जिला में कोरोनाकाल में 106 लोगों ने कर ली आत्महत्या

मानसिक दबाव के चलते 61 पुरुष, 45 महिलाओं ने लगाया मौत को गले

हिमाचल के इस जिला में कोरोनाकाल में 106 लोगों ने कर ली आत्महत्या

- Advertisement -

हमीरपुर। हिमाचल के हमीरपुर (Hamirpur) जिला में कोरोनाकाल (Corona Period) में 106 लोगों ने आत्महत्या (Suicide) कर ली। जिसमें 61 पुरुष और 45 महिलाओं ने मौत को गले लगाया। पिछले कुछ माह से आत्महत्याओं के मामलों में काफी अधिक इजाफा हुआ है। मानसिक दबाव आत्महत्या का मुख्य कारण माना जा रहा है। इसके अलावा भविष्य की अत्याधिक चिंता, घरेलू हिंसा, असाध्य रोग और नशे के सेवन के चलते भी लोग आत्महत्या करते हैं, लेकिन कोरोना काल में आत्महत्या के आंकड़े काफी बढ़े हैं। इन मामलों को देखते हुए जिला पुलिस हमीरपुर (Hamirpur Police) लोगों को इस विषय पर जागरूक करने के लिए विशेष अभियान चलाएगी। विशेषकर महिलाओं को जागरूक किया जाएगाए क्योंकि अधिकतर महिलाओं में ही सुसाइडल टेंडेंसी देखने को मिल रही है। पिछले कुछ महीनों में हमीरपुर जिला में ऐसा अधिक देखने को मिला है। भोरंज थाना के अंतर्गत पिछले कुछ समय में अधिक मामले सामने आए हैं।

यह भी पढ़ें:Corona Update: हिमाचल में नहीं थम रहा कोरोना, आज दो की गई जान; पढ़ें पूरी डिटेल

मानसिक तनाव माना जा रहा आत्महत्याओं का कारण

गौरतलब है कि कोरोना के चलते कई लोगों के रोजगार (Jobs) के साधन खत्म होने और घर पर लंबे समय तक बेकार रहने से मानसिक दबाव की स्थिति से गुजरना पड़ा। इसके चलते पिछले डेढ़ साल में 106 लोगों ने सुसाइड किया। जबकि यदि आम दिनों की बात की जाए तो साल भर में यह आंकड़ा 100 से ऊपर नहीं जाता है। जिला में सामने आए इन चौंकाने वाले मामलों ने सरकार और प्रशासन के साथ ही स्वास्थ्य विभाग (Health Department) की चिंता भी बढ़ा दी है। रोजाना कई लोग मनोचिकित्सक के पास भी काउंसलिंग कर रहे हैं। इसके अलावा योग और खेलकूद ऐसी चीजें हैंए जिससे लोग अपने आप को चिंता और मानसिक दबाव से दूर रख सकते हैं।

यह भी पढ़ें:हिमाचल में दो ने किया सुसाइड, मां से झगड़े के बाद बेटे ने लगाया फंदा, पंखे से झूला व्यक्ति

घरेलू हिंसा से पीड़ित महिलाओं की काउंसलिंग करवाई

एसपी हमीरपुर (SP Hamirpur) डॉ आकृति शर्मा ने कहा कि मानसिक तनाव व दबाव से दूर रखने के लिए पुलिस विभाग ऐसे लोगों की पहचान कर उन्हें मनोचिकित्सक से राय व चेकअप की सलाह दे रहा है। महिला विंग में भी घरेलू हिंसा से पीड़ित महिलाओं की काउंसलिंग करवाई जाती है। इसके अलावा पुलिस ने नशे के सेवन को रोकने के लिए आए दिन अपनी कार्रवाई जारी रखी हुई है। उन्होंने बताया कि बटालियन के जवान जिला हमीरपुर में जगह.जगह जागरुकता शिविरों का आयोजन कर रहे हैं, भविष्य में भी जागरुकता शिविर लगाए जाएंगे। माता.पिता को भी अपने बच्चों की दिनचर्या की निगरानी करनी चाहिए।

 

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

- Advertisement -

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है