Covid-19 Update

2,22,890
मामले (हिमाचल)
2,17,495
मरीज ठीक हुए
3,721
मौत
34,200,957
मामले (भारत)
244,634,716
मामले (दुनिया)

हिमाचल: भर्ती एवं पदोन्नति नियमों में अनदेखी पर भड़कीं एएनएम वर्कर्स, करेंगी आंदोलन

स्वास्थ्य विभाग में भी बैच वाइज भर्तियां किए जाने की उठाई मांग

हिमाचल: भर्ती एवं पदोन्नति नियमों में अनदेखी पर भड़कीं एएनएम वर्कर्स, करेंगी आंदोलन

- Advertisement -

शिमला। हिमाचल प्रदेश फीमेल हेल्थ वर्कर्स (Female Health workers) भर्ती एवं पदोन्नति नियमों में उनकी अनदेखी करने पर भड़क गए हैं। फीमेल हेल्थ वर्कर्स ने अब प्रदेश सरकार के खिलाफ आर पार की लड़ाई लड़ने का मन बना लिया है। फीमेल हेल्थ वर्कर्स का कहना है कि एएनएम वर्कर्स को दरकिनार कर जीएनएम (GNM) और बीएससी नर्सिंग (B.Sc Nursing) को भर्तियों में तरजीह दी जा रही है। जिसका वह कड़ा विरोध करते हैं। एएनएम की करीब 6 हजार वर्कर्स कल यानी बुधवार से भर्ती और पदोन्नति नियमों में अनदेखी पर आंदोलन करेंगी। यह जानकारी शिमला में प्रेसवार्ता के दौरान फीमेल हेल्थ वर्कर की उपाध्यक्ष सुदर्शना कुमारी ने दी। उन्होंने कहा कि पिछले चार सालों से प्रदेश सरकार ने नियमों की अनदेखी कर जीएनएम और बीएससी नर्सिंग की छात्राओं को नौकरी में तरजीह दी है, जबकि फील्ड से लेकर कार्यालय तक में एएनएम वर्कर्स (ANM worker) से ही काम करवाया जाता है।

यह भी पढ़ें:हिमाचल किसान सभा ने दी जयराम सरकार को दी ये धमकी

उन्होंने कहा कि एएनएम वर्कर्स ने कोरोना (Corona) काल मे घर-घर जाकर वैक्सीनेशन करने में अहम भूमिका निभाई है। जिसके चलते प्रदेश आज कोरोना वैक्सीनेशन में नंबर वन बन पाया है। बावजूद इसके एएनएम वर्कर्स को ना तो उतना वेतन मिल पा रहा है और ना ही कोई प्रोत्साहन राशि दी जा रही है। जबकि नौकरी के लिए भी अब सरकार द्वारा आर एंड पी नियमों में भी नियमों को दरकिनार किया जा रहा है। जिसके विरोध में अब एएनएम वर्कर्स ने आंदोलन करने की धमकी दी है। इसके चलते अब कल यानि बुधवार से धरने पर बैठेंगी।

सीएम और स्वास्थ्य मंत्री को सौंप चुके हैं ज्ञापन

सुदर्शना कुमारी ने बताया कि प्रदेश सरकार ने साल 2017 से जितनी भी भर्तियां की हैंए उनमें ज्यादातर जीएनएम और बीएससी नर्सिंग छात्राओं को तरजीह दी है। जिसका वे कड़ा विरोध करती हैं। उन्होंने कहा कि जिस तरह से अन्य विभागों में 50 फीसदी बैचवाइज भर्तियां (batch wise recruitment) की जा रही हैं, उसी तर्ज पर स्वास्थ्य विभाग में भी बैच वाइज भर्तियां की जाएं, ताकि डिप्लोमा धारक 45 साल की उम्र पार कर चुकी महिलाओं को भी नौकरी मिल सके। उन्होंने कहा कि सरकार की हर स्वास्थ्य योजनाओं के लिए एएनएम वर्कर्स कार्य करती हैंए लेकिन उन्हें वे सुविधाएं नहीं मिल पा रही हैं जो अन्य कैटेगरी को मिल रही हैं। उन्होंने कहा कि उन्होंने कई बार सीएम और स्वास्थ्य मंत्री को ज्ञापन सौंपाए लेकिन अब तक उनकी मांगें पूरी नहीं हुई हैं। अब वे सड़कों पर आंदोलन कर अपनी मांगों को पूरा करने की मांग करेंगी।

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

 

- Advertisement -

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है