मंडी में सीटू बोली-श्रम कानूनों में बदलाव करो, वरना करेंगे आंदोलन

केंद्र सरकार पर मजदूर विरोधी नीतियां लागू करने का लगाया आरोप

मंडी में सीटू बोली-श्रम कानूनों में बदलाव करो, वरना करेंगे आंदोलन

- Advertisement -

मंडी। रविवार को कॉमरेड ताराचंद भवन मंडी में सीटू राज्य सचिव मंडल की बैठक राज्य अध्यक्ष विजेंद्र मेहरा (Vijender Mehra) की अध्यक्षता में संपन्न हुई। इसमें राष्ट्रीय सचिव डॉ कश्मीर ठाकुर (Dr Kashmir Thakur) भी विशेष रूप से मौजूद रहे। बैठक का मुख्य एजेंडा केंद्र की मोदी सरकार की मजदूर विरोधी नीतियों के खिलाफ आगामी आंदोलन की रूपरेखा तय करना था। बैठक उपरांत जानकारी देते मंडी जिला के प्रधान भूपेंद्र सिंह ने बताया कि केंद्र सरकार की मजदूर विरोधी नीतियों के खिलाफ आने वाली 5 मार्च को दिल्ली (Delhi) में विशाल प्रदर्शन किया जाएगा, जिसमें देश के सभी राज्यों के मजदूर भाग लेंगे।


यह भी पढ़ें:हमीरपुर में बेरोजगार बीएड यूनियन ने जेबीटी टेट पर शिक्षा विभाग से मांगा जवाब

इसमें हिमाचल प्रदेश के मजदूर भी शामिल होंगे। इसके लिए हिमाचल प्रदेश के सभी मजदूर सगठनों की बैठकें दिसवंर व जनवरी में आयोजित की जाएंगी। उन्होंने कहा कि सीटू के माध्यम से आंगनबाड़ी वर्करों को एनटीटी कोटा निर्धारित किया थाए जिसे बाद में खत्म कर दिया गया। एनटीटी (NTT) के माध्यम से उन्हें केजी और नर्सरी स्कूलों में अध्यापक नियुक्त किया जाएए पर मौजूदा सरकार ने इस पर कोई कार्रवाई नहीं की तथा आने वाली जो सरकार होगी। उसके समक्ष इस मांग को प्रमुखता से रखा जाएगा। सरकार 27 लाख मजदूरों को 210 रुपए दिहाड़ी देकर उनके साथ भेदभाव कर रही है। प्रदेश में जितने भी अन्य दिहाड़ीदार है उन्हें 350 रुपए दिहाड़ी मिलती है। मनरेगा मजदूरों की भी दिहाड़ी 350 रुपए हो इसकी मांग भी की गई है। ऑउटसोर्स वर्करों के लिए मौजूदा सरकार नीतियां बनाने में नाकाम रही। इस मामले पर भी राज्य स्तर पर आंदोलन करेंगे इसके अलावा जो फोरलेन, एनएच, सफाई मजदूरए रेहड़ी-फहड़ी वर्कर, मिड-डे-मील वर्कर इन सभी मजदूरों की जो मांगे लंबे समय से लंबित चल रही हैं, उन्हें प्रदेश स्तर पर पूरा करवाने के लिए जब विधानसभा बजट सत्र होगा उसके दौरान सरकार की उन नीतियों के खिलाफ सड़कों पर उतर कर विरोध किया जाएगा।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

- Advertisement -

loading...
Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




×
सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है