Covid-19 Update

2,86,061
मामले (हिमाचल)
2,81,413
मरीज ठीक हुए
4122
मौत
43,452,164
मामले (भारत)
551,819,640
मामले (दुनिया)

हिमाचल: अपनी मांगों को लेकर कॉलेज प्रवक्ताओं ने शुरू की भूख हड़ताल, चेतावनी भी दी

4 साल से पदोन्नति ना होने पर फूटा गुस्साए अब प्रतिदिन 2 घंटे की हड़ताल पर बैठेंगे प्राध्यापक

हिमाचल: अपनी मांगों को लेकर कॉलेज प्रवक्ताओं ने शुरू की भूख हड़ताल, चेतावनी भी दी

- Advertisement -

ऊना। पीजी कॉलेज ऊना (PG College Una) के प्राध्यापकों ने हिमाचल राजकीय महाविद्यालय प्राध्यापक महासंघ के बैनर तले सोमवार सुबह एक दिन की सांकेतिक भूख हड़ताल (Hunger Strike) कर डाली। इसके साथ ही कॉलेज प्राध्यापकों ने मंगलवार से 2 घंटे की सांकेतिक हड़ताल करने का भी ऐलान कर दिया है। सोमवार को हिमाचल गवर्नमेंट कॉलेज टीचर्स एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष डॉक्टर संजय वर्मा की अगुवाई में प्राध्यापकों ने प्रिंसिपल कार्यालय के बाहर धरना प्रदर्शन और भूख हड़ताल की। एसोसिएशन का कहना है कि यदि सरकार अब भी उनकी मांग की अनदेखी करती है तो केंद्रीय नेतृत्व के आह्वान पर आंदोलन का स्वरूप और भी उग्र किया जा सकता है।

यह भी पढ़ें- प्रतिभा सिंह बोंली: पेट्रोल-डीजल के दाम कम करना बीजेपी का मात्र चुनावी स्टंट

कालेज प्राध्यापकों की 4 वर्ष से लटकी हुई पदोन्नति (Promotion) के मामले को लेकर प्राध्यापकों का गुस्सा फूट पड़ा है। सोमवार सुबह पीजी कॉलेज के प्रिंसिपल कार्यालय के बाहर हिमाचल गवर्नमेंट कॉलेज टीचर्स एसोसिएशन के बैनर तले प्राध्यापकों ने सांकेतिक भूख हड़ताल शुरू की। इस मौके पर यूनियन के जिलाध्यक्ष डॉक्टर संजय वर्मा की अगुवाई में बैठे प्राध्यापकों ने एक स्वर में अपनी मांगे पूरी करने के लिए आवाज बुलंद की। इस मौके पर डॉ संजय वर्मा ने बताया कि कॉलेज प्राध्यापकों ने अपने संघर्ष का शंखनाद उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन रद्द करने के साथ कर दिया था, लेकिन इसके बाद भी जब सरकार को भेजे गए संदेश का कोई जवाब नहीं आया तो हिमाचल राजकीय महाविद्यालय के प्राध्यापक संघ (Professors Association of Himachal Government College) की इकाई ने प्रत्येक महाविद्यालय ने सांकेतिक भूख हड़ताल करने का ऐलान किया। उन्होंने कहा कि मांगे नही माने जाने तक मंगलवार से प्रतिदिन 2 घंटे की सांकेतिक हड़ताल की जाएगी। यदि इसके बाद भी सरकार और अध्यापकों की मांगों की अनदेखी करती है तो केंद्रीय नेतृत्व के आह्वान पर आंदोलन के स्वरूप को उग्र भी किया जा सकता है।

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है