Covid-19 Update

2,86,414
मामले (हिमाचल)
2,81,601
मरीज ठीक हुए
4122
मौत
43,502,429
मामले (भारत)
554,235,320
मामले (दुनिया)

हिमाचल: मजदूर का शव जलाने को मोक्षधाम कमेटी ने मांगे 3500 रुपए, मचा बवाल

सुंदरनगर से सामने आया मामला, फजीहत होता देख कमेटी ने लौटाए पैसे

हिमाचल: मजदूर का शव जलाने को मोक्षधाम कमेटी ने मांगे 3500 रुपए, मचा बवाल

- Advertisement -

सुंदरनगर। हिमाचल में इंसानियत को शर्मसार करने वाली घटना सामने आई है। यहां एक प्रवसी मजदूर के शव (Funeral of Laborer) को जलाने के लिए मोक्षधाम कमेटी (Crematorium Committee) ने 3500 रुपए की पर्ची काट दी। जिसके बाद यह मामला तुल पकड़ने लगा। अपनी फजीहत होता देख मोक्षधाम कमेटी ने शनिवार को मजदूर के घर जाकर उसके पैसे लौटा दिए। मामला सुंदरनगर (Sundernagar) के चांदपुर स्थित शमशान घाट से सामने आया है। इस बारे में प्रवासी मजदूर एवं वाल्मीकि समुदाय सुंदरनगर इकाई के प्रधान घनश्याम ठाकुर ने बताया कि प्रवासी मजदूर दिहाड़ी मजदूरी करने वाला था और उसके पास और रिश्तेदारों सहित अन्य किसी के पास जलाने के लिए लकड़ी को खरीदने के लिए इतने पैसे तक नहीं थे। तब मोक्षधाम कमेटी सुंदरनगर ने बात ना स्वीकारते हुए प्रवासी मजदूर से 3500 रुपए की रसीद काटकर हाथ में थमा दी।

यह भी पढ़ें:हिमाचल में आग का तांडव: 15 झुग्गियों के साथ कई कटड़े, बकरियां और मुर्गियां जिंदा जलीं

जब यह मामला तूल पकड़ने लगा तो शनिवार को मोक्ष धाम कमेटी सुंदरनगर के पदाधिकारियों ने आनन-फानन में प्रवासी मजदूर के घर पहुंचकर सारे पैसे उनके हाथों में थमा दिए। लेकिन मोक्ष धाम सुंदरनगर कमेटी के कारनामे जब सोशल मीडिया और फेसबुक मीडिया पर पोस्ट डालने के जरिए खूब फजीहत होने लगी तो पदाधिकारियों के पांव तले जमीन तक खिसक गई। घनश्याम ठाकुर का कहना है कि प्रवासी मजदूरों का चाहे कोरोना काल के दौरान निधन हुआ हो या ऐसे ही किसी मजदूर भाई का निधन हुआ हो सुंदरनगर के मुख्य समाजसेवी सुरेश कौशल उर्फ बब्बू पंसारी क्रिया कर्म के लिए तमाम तरह की सामग्री निशुल्क में प्रवासी मजदूरों के संस्कार करने के लिए प्रदान करते आए हैं। इसके लिए उन्होंने उनका आभार प्रकट किया है और मोक्ष धाम कमेटी सुंदरनगर के पदाधिकारियों से भी आग्रह किया है कि वह गरीब तबके के व्यक्ति के संस्कार के लिए लकड़ी के बदले पैसे अर्जित करने की प्रथा बंद करेंए ताकि इस दुखद घड़ी में गरीब परिवार अपने मृतक की देह का देह संस्कार कर सके। कमेटी की ओर से शनिवार को 3500 लौटाने का निर्णय सराहनीय है और भविष्य में भी कदम उठाने से गरीब लोगों को काफी राहत मिलेगी।

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group… 

 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है