Covid-19 Update

2, 85, 044
मामले (हिमाचल)
2, 80, 865
मरीज ठीक हुए
4117*
मौत
43,148,500
मामले (भारत)
531,112,840
मामले (दुनिया)

दूसरे शहर में ट्रेन से भेज सकते हैं अपनी बाइक, जानिए नियम और तरीका

अच्छा और सस्ता विकल्प है रेलवे से पार्सल करना

दूसरे शहर में ट्रेन से भेज सकते हैं अपनी बाइक, जानिए नियम और तरीका

- Advertisement -

भारतीय रेलवे दुनिया का चौथा सबसे बड़ा रेल नेटवर्क है। भारतीय रेलवे (Indian Railways) की मदद से आप अपनी बाइक भी दूसरे शहर भेज सकते हैं। दरअसल, भारतीय रेलवे द्वारा ट्रांसपोर्ट करना एक अच्छा और सस्ता विकल्प है। रेलवे कुरियर की मदद से आसानी से सामान को एक जगह से दूसरी जगह भेजा जा सकता है।

यह भी पढ़ें:स्विट्जरलैंड से भी ज्यादा खूबसूरत हैं भारत के ये स्टेशन, एक बार जरूर जाएं

आज हम आपको बताएंगे रेलवे की मदद से कैसे आप अपनी बाइक या स्कूटर किसी दूसरे राज्य में भेज सकते हैं। बता दें कि भारतीय रेलवे से किसी भी सामान को ट्रांसपोर्ट करने के दो तरीके हैं, एक तो लगेज के रूप में और दूसरा पार्सल के रूप में। सफर के दौरान जिस सामान को आप अपने साथ ले जा रहे हैं उसे लगेज कहा जाता है। जबकि पार्सल का अर्थ है कि आप सामान अपनी पसंद की जगह पर भेज रहे हैं, लेकिन उसके साथ खुद यात्रा नहीं कर रहे हैं।

ऐसे करें पार्सल

रेलवे से बाइक पार्सल करने के लिए सबसे पहले व्यक्ति को अपने नजदीकी रेलवे स्टेशन पर जाना होगा और वहां पार्सल काउंटर से पार्सल संबंधित सारी जानकारी लेनी होगी। इसके बाद सारे दस्तावेज तैयार करके यानी दस्तावेजों की ओरिजनल कॉपी और फोटो कॉपी दोनों साथ रखनी होगी। बता दें कि वेरिफिकेशन के दौरान ओरिजनल कॉपी की जरूरत पड़ सकती है और बाइक के टैंक को चेक किया जाएगा।

ऐसे बुक करें बाइक

बता दें कि अगर गाड़ी का रजिस्ट्रेशन आपके नाम पर नहीं है, फिर भी आप अपनी आईडी से गाड़ी बुक करा सकते हैं। हालांकि, गाड़ी की आरसी और बीमा के कागज पास होना जरूरी हैं। पार्सल की बुकिंग सुबह 10 बजे से शाम 5 बजे तक होती है, जबकि, लगेज की बुकिंग कभी भी करवाई जा सकती है।

इन बातों का रखें ध्यान

बाइक पार्सल करने से पहले इन जरूरी बातों का ध्यान रखें। बाइक पार्सल करने के लिए एक दिन पहले बुकिंग कराएं। इसके अलावा पार्सल करवाने से पहले बाइक का रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट और बीमा के कागज साथ में होने चाहिए। पार्सल करवाते वक्त वाहन मालिक का आईडी कार्ड यानी आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस आदि भी साथ में लगेगा। बाइक पार्सल करवाते समय इस बात का ध्यान रखें कि बाइक अच्छी तरह पैक होनी चाहिए और बाइक में पेट्रोल नहीं होना चाहिए। बता दें कि अगर पार्सल करवाते वक्त गाड़ी में पेट्रोल हो तो 1000 रुपए जुर्माना देना पड़ेगा।

इतना लगेगा किराया

बाइक ट्रांसपोर्ट करने के लिए रेलवे सस्ता और तेज माध्यम है। रेलवे से सामान भेजने के लिए वजन और दूरी के अनुसार भाड़े की गणना होती है। जबकि, लगेज का चार्ज पार्सल के मुकाबले ज्यादा होता है। बता दें कि 500 किलोमीटर दूर तक बाइक भेजने के लिए औसत किराया करीब 1200 रुपए होता है और बाइक की पैकिंग पर करीब 500 रुपए तक का खर्च आ सकता है।

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है