Covid-19 Update

2,85,836
मामले (हिमाचल)
2,81,328
मरीज ठीक हुए
4122
मौत
43,436,433
मामले (भारत)
550,643,002
मामले (दुनिया)

बैठे हुए बार-बार हिलाते हैं पैर, यहां जानें क्यों होता है ऐसा

मेडिकल साइंस में पैर हिलाने को कहते हैं रेस्टलेस लेग्स सिंड्रोम

बैठे हुए बार-बार हिलाते हैं पैर, यहां जानें क्यों होता है ऐसा

- Advertisement -

दुनिया में बहुत सारे लोग ऐसे हैं जिन्हें कुर्सी पर बैठे हुए पैर हिलाने की आदत होती है। आपने अक्सर अपने आसपास कई ऐसे लोगों को देखा होगा, जो कुर्सी या किसी भी जगह पर बैठे हुए पैर हिलाते रहते हैं। कुछ लोगों को तो बिस्तर पर लेटे-लेटे भी पैर हिलाने की आदत होती है। आज हम आपको पैर हिलाने से स्वास्थ्य से जुड़ी समस्याओं के बारे में बताएंगे। मेडिकल साइंस में इस आदत को रेस्टलेस लेग्स सिंड्रोम (Restless Legs Syndrome) का नाम दिया गया है।

यह भी पढ़ें- इन सब्जियों को डाइट में करें शामिल, जानलेवा बीमारियों से रहेंगे हमेशा दूर

विशेषज्ञों के अनुसार, लगभग 10 फीसदी लोगों को पैर हिलाने की समस्या होती है। ये समस्या 35 साल से ज्यादा उम्र के लोगों में आम होती है। जबकि, आजकल ये आदत बहुत सारे युवाओं में भी देखी जा रही है। ये एक ऐसी स्वास्थ्य समस्या है जो नर्वस सिस्टम से जुड़ी हुई है। ये समस्या पुरुषों व महिलाओं दोनों में होती है।

ये रेस्टलेस लेग्स सिंड्रोम एक ऐसी स्थिति है, जिसमें व्यक्ति को बैठने और सोने के समय पैरों में तेज दर्द होने लगता है। ऐसे में पैरों को मूव करते रहने से ये दर्द कम होता है। अगर आपको लगता है कि आप रेस्टलेस सिंड्रोम से जूझ रहे हैं तो आपको तुरंत डॉक्टर को दिखाना चाहिए। इस आदत का इलाज फिजियोथेरेपी ट्रीटमेंट लेकर किया जा सकता है। इसके अलावा मसल्स की स्ट्रेचिंग करके भी इस सिंड्रोम को ठीक किया जा सकता है।

बता दें कि शरीर में आयरन की कमी के कारण कई तरह की परेशानियां हो सकती हैं। पैर हिलाने की आदत भी आयरन की कमी की ओर इशारा करती है। ऐसे में आयरन की गोलियां लेने की सलाह दी जाती है। इसके अलावा पैर हिलाने की आदत से हार्मोनल बदलाव भी हो सकते हैं। ब्लड प्रेशर, शुगर के मरीजों और हृदय रोगियों को इसका खतरा ज्यादा रहता है।

विशेषज्ञों का अनुसार, पैर हिलने पर मस्तिष्क में डोपामाइन हार्मोन निकलता है। ये हार्मोन व्यक्ति को अच्छा महसूस करवाता है, जिस कारण व्यक्ति का बार-बार पैर हिलाने का मन करता है। इस समस्या को स्लीप डिसऑर्डर से भी जोड़कर देखा जा सकता है। कई बार नींद पूरी ना होने के कारण भी इंसान ऐसा करता है।

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है