Covid-19 Update

3,07, 061
मामले (हिमाचल)
2,99, 605
मरीज ठीक हुए
4162
मौत
44,223,557
मामले (भारत)
593,515,060
मामले (दुनिया)

मानसून में बुखार को भूलकर भी ना करें इग्नोर, जरूर करवाएं ये टेस्ट

उल्टी-दस्त और सिरदर्द की समस्या से भी हो सकती है दिक्कत

मानसून में बुखार को भूलकर भी ना करें इग्नोर, जरूर करवाएं ये टेस्ट

- Advertisement -

आजकल मानसून का दौर चल रहा है। सावन का महीना हर किसी को पसंद आता है। कारण रिमझिम बारिश के साथ चारों ओर हरियाली दिखती है। दूसरा यह महीना आम, आड़ू, नाशपाती और जामुन आदि फल के पकने का भी होता है। मानसून में ज्यादातर लोग बुखार की समस्या से परेशान रहते हैं। वहीं, इस महीने में मक्खी, मच्छर और अन्य प्रकार के किटाणू भी पनपते हैं। मानसून (Monsoon) में ज्यादातर लोग बुखार की समस्या से परेशान रहते हैं। ऐसे में किसी को इस बुखार को इग्नोर नहीं करना चाहिए, बल्कि कुछ टेस्ट करवाने चाहिए।

यह भी पढ़ें- बच्चों की मेंटल हेल्थ को प्रभावित करता है पिता का डिप्रेशन, पड़ता है बुरा अस

गौरतलब है कि मानसून में लोगों को बुखार, हैजा, पेचिश और अन्य प्रकार की बीमारियां का सामना करना पड़ता है।अगर आप मानसून में लगातार बुखार से पीड़ित रह रहे हैं तो इसे हल्के में मत लीजिए। सावधान हो जाइए और अपना प्रॉपर टैस्ट जरूर करवाएं नहीं तो ये बुखार आपके लिए खतरनाक साबित हो सकता है। बता दें कि लंबे समय तक रहने वाला बुखार सेहत के लिए अच्छा लक्षण नहीं माना जाता और हमें तुरंत सावधानी बरतनी होती है।

अगर आपको लगातार ठंड, कंपकंपी के साथ बुखार आ रहा है और आपको पसीना भी आ रहा व शरीर में दर्द हो रही है तो समझिए आपको मलेरिया (Malaria) के लक्षण हैं। मलेरिया मानसून के मौसम में होने वाली आम बीमारी है और यह एनाफालीस नामक मच्छर के काटने से होती है। ऐसे में आप तुरंत मलेरिया का टेस्ट करवाएं, वरना यह बुखार जानलेवा साबित हो सकता है।

वहीं, अगर आपको दिन के समय में तेज बुखार आ रहा है और सुबह के समय तापमान कम हो रहा है तो ये टायफायड (Typhoid) के लक्षण हैं। टाइफाइड भी एक खतरनाक बुखार है। यह मानसून मौसम में होने वाली आम बीमारी है। यह बीमारी दूषित भोजन और पानी के सेवन करने से होती है। बुखार के साथ अगर आपको दस्त, पेट में दर्द और सिरदर्द के लक्षण भी हों तो सावधान हो जाइए। यह आपको टाइफाइड के लक्षण हो सकते हैं। अतः आप इसका टेस्ट कराएं और उचित इलाज करवाएं।

इसके अलावा इसी मौसम में मादा एडीज एजिप्टी मच्छर के काटने से डेंगू (Dengue) भी हो जाता है। इस कारण भी तेज बुखार होता है। इससे शरीर के सैल कम हो जाने से बहुत ज्यादा कमजोरी हो जाती है। इसके लक्षण सिरदर्द, स्किन रैशेज, आंखों के पीछे दर्द और शरीर में दर्द रहता है। डेंगू बहुत ही खतरनाक बीमारी है। अतः ऐसे लक्षण हों तो तुरंत जाकर अपना टैस्ट करवाएं।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group… 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है