Covid-19 Update

2, 85, 003
मामले (हिमाचल)
2, 80, 796
मरीज ठीक हुए
4117*
मौत
43,134,332
मामले (भारत)
526,876,304
मामले (दुनिया)

पंचतत्व में विलीन हुए पूर्व विधायक कश्मीरी लाल, राजकीय सम्मान से हुआ अंतिम संस्कार

पैतृक गांव में प्रशासनिक अधिकारीयों और विभिन्न दलों के नेताओं ने दी श्रद्धांजलि

पंचतत्व में विलीन हुए पूर्व विधायक कश्मीरी लाल, राजकीय सम्मान से हुआ अंतिम संस्कार

- Advertisement -

ऊना। बीजेपी के कद्दावर नेता और तीन बार के विधायक (Former MLA) रहे वयोवृद्ध कश्मीरी लाल जोशी का आज राजकीय सम्मान (State Honors) के साथ अंतिम संस्कार (Cremated) किया गया। कश्मीरी लाल जोशी आज अपने पैतृक गांव कुंगड़त स्थित मोक्ष धाम में पंचतत्व में विलीन हो गए। गौरतलब है कि गुरुवार को तबीयत बिगड़ने के चलते कश्मीरी लाल जोशी को उपचार के लिए प्रदेश के बाहर बड़े स्वास्थ्य संस्थान ले जाया जा रहा था, जहां उनकी रास्ते में ही मृत्यु हो गई थी। शुक्रवार को पुलिस की गार्द ने सलामी देकर कश्मीरी लाल जोशी को अंतिम विदाई दी। राजकीय सम्मान के साथ हुए इस अंतिम संस्कार में औद्योगिक विकास निगम के उपाध्यक्ष प्रोफेसर रामकुमार और प्रशासन की तरफ से एसडीएम हरोली भी मौके पर मौजूद रहे। दिवंगत नेता के अंतिम दर्शन और अंत्येष्टि के लिए विधानसभा क्षेत्र से सैकड़ों लोग भी उमड़े रहे।

यह भी पढ़ें:हिमाचल: इस पूर्व विधायक ने ली अंतिम सांस, कांग्रेस और बीजेपी से तीन बार बने थे MLA

 

86 वर्षीय वयोवृद्ध नेता कश्मीरी लाल जोशी (Kashmiri Lal Joshi) पिछले कुछ समय से बीमार चल रहे थे। गुरुवार को उन्हें उनके पैतृक निवास कुंगड़त से पीजीआई (PGI) चंडीगढ़ ले जाया जा रहा था। रास्ते में उन्होंने आखिरी सांस ली। कश्मीरी लाल जोशी तीन बार हिमाचल प्रदेश विधानसभा के सदस्य रहे हैं। पहली बार 1969 में लोकराज पार्टी की तरफ से कश्मीरी लाल जोशी बीत क्षेत्र विधानसभा हलके से विधायक रहे। दूसरी बार 1972 में कश्मीरी लाल जोशी कांग्रेस पार्टी के उम्मीदवार बने और बीत क्षेत्र से विधायक बने। तीसरी बार 1990 में बीजेपी के उम्मीदवार के रूप में चुनाव लड़ा और जीत दर्ज की। कश्मीरी लाल जोशी लंबे समय तक बीजेपी में सक्रिय रहे और शीर्ष नेतृत्व में रहे। कश्मीरी लाल जोशी को ईमानदार राजनीति के लिए जाना जाता रहा है।

 

 

संतोषगढ़ विधानसभा क्षेत्र जब तक रहा तब तक जोशी परिवार की राजनीति में खूब तूती बोलती रही। कश्मीरी लाल जोशी कुछ वर्षों से राजनीतिक रूप से सक्रिय नही रहे और भगवा चोला पहनकर प्रभु भक्ति में लीन रहे। कश्मीरी लाल जोशी का भरा-पूरा परिवार है जिसमें पत्नी, दो बेटे, एक बेटी हैं। कश्मीरी लाल जोशी के निधन पर जिला व प्रदेश के समस्त राजनीतिक दलों व प्रबुद्ध नेताओं ने शोक व्यक्त किया है। इस मौके पर एचपीएसआईडीसी उपाध्यक्ष प्रोफेसर रामकुमार ने कहा कि पंडित कश्मीरी लाल जोशी ने सिद्धांतों पर आधारित राजनीति की है। उन्होंने सदैव विधानसभा क्षेत्र के लोगों का दुख सुख बांटा है। साफ छवि के पंडित कश्मीरी लाल जोशी को सदैव याद किया जाता रहेगा।

 

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है