×

Himachal के पहाड़ों पर बर्फबारी, आंधी-तूफान ने मचाई तबाही, जाने कब तक सताएगा मौसम

Himachal के पहाड़ों पर बर्फबारी, आंधी-तूफान ने मचाई तबाही, जाने कब तक सताएगा मौसम

- Advertisement -

शिमला। हिमाचल में मौसम विभाग (weather department) के पूर्वानुमान अनुसार सोमवार को लाहुल-स्पीति (Lahul Spiti) और मनाली की ऊंची चोटियों पर ताजा हिमपात (Snowfall) हुआ है। वहीं प्रदेश के कई क्षेत्रों में तेज आंधी तूफान भी आया। जिससे कई जगहों पर नुकसान की भी खबरें सामने आई हैं। राजधानी शिमला सहित प्रदेश के कई क्षेत्रों में दिन भर बादल छाए रहे। मनाली (Manali) और भुंतर में हल्की बूंदाबांदी हुई। मैदानी क्षेत्रों में मौसम अभी भी गर्म बना हुआ है। सोमवार को ऊना में इस सीजन का सबसे गर्म दिन रिकॉर्ड हुआ। ऊना में अधिकतम तापमान 37 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ। मौसम विज्ञान केंद्र शिमला ने मंगलवार से मध्य पर्वतीय क्षेत्रों शिमला, सोलन, सिरमौर, मंडी, कुल्लू, चंबा और उच्च पर्वतीय क्षेत्रों किन्नौर (Kinnaur) व लाहुल-स्पीति में 17 अप्रैल तक बादल बरसने का पूर्वानुमान जताया है। मैदानी जिलों ऊना, बिलासपुर, हमीरपुर और कांगड़ा में 15 से 17 अप्रैल तक मौसम खराब रहने की संभावना है। मध्य और उच्च पर्वतीय जिलों में 14 और 15 अप्रैल को अंधड़ और बारिश का येलो अलर्ट जारी हुआ है।


यह भी पढ़ें :- Himachal में कैसे रहेंगे मौसम के मिजाज, कहां जारी हुआ येलो अलर्ट-जाने

इसी तरह से कुल्लू व लाहुल-स्पीति जिला में मौसम ने एक बार फिर करवट बदली है। मनाली व लाहुल-स्पीति की ऊंची चोटियों पर सोमवार दोपहर बाद बर्फबारी का दौर शुरू हुआ। लाहुल की चंद्रा घाटी में बारिश हल्की बारिश भी हुई। कुल्लू जिले में ठंडी हवाएं चलने से मौसम में ठंडक बढ़ गई है। घाटी में इन दिनों सेब की सेटिंग का समय चल रहा है। अंधड़ से सेब की फसल को नुकसान हो सकता है। सोमवार को अटल टनल रोहतांग (Atal Tunnel Rohtang) से वाहनों की आवाजाही जारी रही। शिमला (Shimla) में बादल छाए रहने के साथ हल्की धूप खिली। सोमवार को प्रदेश के अधिकतम तापमान में सामान्य से दो डिग्री की बढ़ोतरी दर्ज हुई।

कुल्लू में आंधी तूफान से मकान की छत उड़ी

कुल्लू। जिला की शिलिहार पंचायत के त्रैहण गांव में शाम करीब 4:30 बजे अचानक तेज आंधी तूफान के कारण स्थानीय निवासी तारामणि शर्मा के मकान की छत पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गई। जिसके चलते तारामणि शर्मा का परिवार खुले आसमान के नीचे आ गया है। उन्होंने कहा कि करीब आधे घंटे तक तेज आंधी तूफान से क्षेत्र के किसानों बागवानों की फसल को भी भारी नुकसान पहुंचा है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है