Covid-19 Update

2,18,693
मामले (हिमाचल)
2,13,338
मरीज ठीक हुए
3,656
मौत
33,697,581
मामले (भारत)
233,301,085
मामले (दुनिया)

हिमाचल: शहीद स्मारक धर्मशाला में स्थापित हुआ स्वर्णिम विजय मशाल

9 वीं कोर के स्टेशन कमांडर ब्रिगेडियर मनोज कुमार शर्मा ने शहीदों को दी श्रद्धांजलि

हिमाचल: शहीद स्मारक धर्मशाला में स्थापित हुआ स्वर्णिम विजय मशाल

- Advertisement -

धर्मशाला। 1971 में भारत-पाकिस्तान युद्ध (India-Pak War) के 50 वर्ष पूरे होने के उपलक्ष्य पर राष्ट्रीय युद्ध स्मारक दिल्ली में पीएम नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने शहीद सैनिकों को श्रद्धांजलि देने के लिए 4 विजय मशाल प्रज्वलित किए थे। जिन्हें देश के अलग-अलग कोनों में घुमाया जा रहा है। इसी कड़ी में आज शहीद स्मारक धर्मशाला में विजय मशाल स्थापित कर सन 1971 सहित देश के अन्य युद्धों में अपने प्राण न्यौछावर करने वाले शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की गई।

यह भी पढ़ें:स्वर्णिम विजय वर्ष: मंडी के सेरी मंच पर सीएम जयराम ने ग्रहण की विजय मशाल

ब्रिगेडियर मनोज शर्मा ने दी श्रद्धांजलि

इस दौरान 9 वीं कोर के स्टेशन कमांडर ब्रिगेडियर मनोज कुमार शर्मा ने शहीदों को राज्य युद्ध स्मारक धर्मशाला में श्रद्धांजलि दी। ब्रिगेडियर मनोज कुमार शर्मा ने कहा कि इस विजय मशाल का शुभारंभ पीएम नरेंद्र मोदी ने किया था। उन्होंने कहा कि विजय मशाल (Swarnim Vijay Mashaal) पूरे देश में घूम रही है। जम्मू कश्मीर के बाद हिमाचल पहुंची है। वहीं, ब्रिगेडियर मनोज शर्मा ने बताया कि मशाल यहां से पंजाब जाएगी। वहीं, बुधवार 15 सितंबर को क्रिकेट स्टेडियम में आम जनता के लिए भव्य कार्यक्रम आयोजित होगा। उन्होंने कहा कि यह विजय मशाल आम जनमानस को देश कुछ करने का संदेश देती है।

कर्नल करतार सिंह भी रहे मौजूद

वहीं, भारत-पाक युद्ध 1971 के गवाह सेवानिवृत कर्नल करतार सिंह भी इस अवसर पर मौजूद रहे। उन्होंने कहा कि स्वर्णिम विजय दिवस को मनाने का उद्देश्य देश के प्रति समर्पण के भाव को बढ़ाना है। सेवानिवृत्त कर्नल करतार सिंह ने कहा कि उन्होंने 1971 भारत-पाक युद्ध, श्रीलंका ऑपरेशन व कारगिल युद्ध लड़ा है। 70 की उम्र के बावजूद उनमें अभी भी देशभक्ति का जज्बा कम नहीं हुआ है। वह अभी भी नौजवानों की तरह बाइक चला सकते हैं। करतार ने कहा कि भारत-पाक युद्ध में भारत के 37 हजार जवानों की शहादत हुई थी, जबकि पाकिस्तान के 93 हजार जवानों को आत्मसमर्पण करना पड़ा था।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है