Covid-19 Update

2,17,140
मामले (हिमाचल)
2,11,871
मरीज ठीक हुए
3,637
मौत
33,501,851
मामले (भारत)
229,513,714
मामले (दुनिया)

स्वर्णिम विजय वर्ष: मंडी के सेरी मंच पर सीएम जयराम ने ग्रहण की विजय मशाल

सीएम जयराम ने 1971 युद्ध सैनिकों के परिजनों को किया सम्मानित

स्वर्णिम विजय वर्ष: मंडी के सेरी मंच पर सीएम जयराम ने ग्रहण की विजय मशाल

- Advertisement -

शिमला। सीएम जय राम ठाकुर ने रविवार को मंडी के सेरी मंच पर स्वर्णिम विजय वर्ष (Swarnim Vijay Varsh) के अवसर पर निकाली गई विजय मशाल को ग्रहण किया। यह स्वर्णिम विजय वर्ष पाकिस्तान पर भारत की ऐतिहासिक विजय के 50 वर्ष पूर्ण होने के उपलक्ष्य पर मनाया जा रहा है। रविवार को विजय मशाल (victory flame) यात्रा के स्वागत के लिए ऐतिहासिक सेरी मंच को आकर्षक ढंग से सजाया गया। सीएम जयराम ने इस अवसर पर लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि यह आयोजन 1971 के युद्ध में भारत की ऐतिहासिक विजय के 50 वर्ष पूरे होने के उपलक्ष्य में मनाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि यह आयोजन ना केवल 1971 में पाकिस्तान (Pakistan) पर भारत की शानदार विजय की याद दिलाता है, बल्कि यह बांग्लादेश के जन्म की कहानी भी बताता है। उन्होंने कहा कि यह विजय भारतीय सैनिकों के सामरिक कौशल और वीरता का जीता-जागता दस्तावेज है। उन्होंने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी ने 16 दिसंबर, 2020 को विजय मशाल जलाकर स्वर्ण विजय वर्ष समारोह आरंभ किया गया और तब से विजय मशाल देशभर की यात्रा कर रही है।

 

 

स्वतंत्रता के बाद हिमाचल के 1700 वीरों ने पाई शहादत

जयराम ठाकुर ने कहा कि हिमाचल (Himachal) को वीरभूमि का गौरव दिलाने में प्रदेश के वीर सपूतों ने अभूतपूर्व योगदान दिया है। उन्होंने कहा कि स्वतंत्रता प्राप्ति के बाद से हिमाचल के लगभग 1700 वीरों ने देश के लिए अपने प्राणों की आहुति दी है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के जवानों की वीरता इस बात से प्रदर्शित होती है कि राज्य के सपूतों को 4 परमवीर चक्र, 2 अशोक चक्र, 11 महावीर चक्र और 23 कीर्ति चक्र मिले हैं। उन्होंने कहा कि राज्य के कुल 1111 सैनिकों को विभिन्न पदकों से सम्मानित किया गया है।

 

 

1971 के युद्ध में हिमाचल के 261 जवान हुए थे शहीद

सीएम जय राम ठाकुर (CM Jai Ram Thakur) ने कहा कि वर्ष 1971 के भारत-पाकिस्तान युद्ध के दौरान हिमाचल के 261 वीरों ने अपने प्राणों की आहुति दी थी। उन्होंने कहा कि राज्य में आज 121944 भूतपूर्व सैनिक, 923 वीर नारियां और 36731 अन्य सैन्य विधवाएं हैं। उन्होंने कहा कि कारगिल युद्ध के दौरान हिमाचल के 52 वीरों ने अपने प्राणों की आहुति देकर राज्य को गौरवान्वित किया था। इस युद्ध के दौरान राज्य के सैनिकों ने 2 परमवीर चक्र, 6 वीर चक्र और 12 सेना पदक और एक मेन्शन-इन-डिस्पैच प्राप्त किया।

 

 

जयराम ठाकुर ने इस अवसर पर 1971 के युद्ध शहीदों के परिजनों को भी सम्मानित किया। उन्होंने साइक्लिंग अभियान को भी हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इससे पूर्व जय राम ठाकुर और लेफ्टिनेंट जनरल पीएन अनन्थानारायणन ने मंडी में शहीद स्मारक का दौरा किया और शहीदों को पुष्पांजलि अर्पित की। उन्होंने महात्मा गांधी की प्रतिमा पर भी माल्यार्पण कर पुष्पांजलि अर्पित की।

 

 

 

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए Subscribe करें हिमाचल अभी अभी का Telegram Channel…

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है