Covid-19 Update

3,12, 308
मामले (हिमाचल)
3, 07, 991
मरीज ठीक हुए
4189
मौत
44,606,460
मामले (भारत)
625,796,026
मामले (दुनिया)

मानसून सत्र: शिक्षा विभाग में भरे जाएंगे 1927 पद, 1935 पर चल रही भर्ती प्रक्रिया

शिक्षा मंत्री ने सदन में दी जानकारी, कहा स्कूलों को मिलेंगे जल्द ही 800 शिक्षक

मानसून सत्र: शिक्षा विभाग में भरे जाएंगे 1927 पद, 1935 पर चल रही भर्ती प्रक्रिया

- Advertisement -

शिमला। शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर (Education Minister Govind Singh Thakur) ने हिमाचल विधानसभा के मानसून सत्र के तीसरे दिन सदन में बताया कि प्रदेश में जेबीटी के 1935 पदों पर भर्ती प्रक्रिया चल रही है। इनमें 1468 पद जल्द भरे जाएंगे। इसके अलावा शिक्षा विभाग (Education Department) ने 1927 पदों को भरने की मंजूरी का मामला भी वित्त विभाग को भेजा है। इसमें 800 पदों पर भर्ती प्रक्रिया कर्मचारी चयन आयोग के माध्यम से जल्द की जाएगी। शिक्षा मंत्री ने बताया कि जेबीटी की भर्ती (JBT Recruitment) होते ही उन्हें प्राथमिकता के आधार पर उन स्कूलों में तैनात किया जाएगा, जहां कोई भी शिक्षक नहीं है या फिर एक-एक अध्यापक है। शिक्षा मंत्री ने बताया कि प्रदेश में जेबीटी के 4009 पद, एचटी के 371 पद और सीएचटी के 125 पद खाली पड़े है। जेबीटी का मामला हाईकोर्ट में लंबे समय तक विचाराधीन होने की वजह से चार साल से सीधी भर्ती के माध्यम से एक भी शिक्षक को तैनाती नहीं दी जा सकी।

यह भी पढ़ें:हिमाचल विधानसभा में विधेयक पेश, जबरन धर्म परिवर्तन करवाया तो होगी सजा

बीएड को भी मिलेगी प्राइमरी स्कूलों में तैनाती

डलहौजी की विधायक आशा कुमारी के अनुपूरक सवाल के जवाब में शिक्षा मंत्री ने बताया कि हिमाचल के प्राइमरी स्कूलों में पहली बार जेबीटी प्रशिक्षित के अलावा बीएड डिग्रीधारक को भी तैनाती करने की तैयारी की जा रही है। उन्होंने कहा कि हाईकोर्ट ने बीएड को भी जेबीटी पदों पर नियुक्ति देने के आदेश दिए हैं। जिसके चलते अब बीएड और जेबीटी दोनों को प्राइमरी स्कूलों में तैनाती दी जाएगी।

महेंद्र सिंह ने की घोषणा कहा-आपदा राहत मैनुअल बदलेंगे

विधानसभा के मानसून सत्र (Himachal Vidhan sabha Monsoon session ) के तीसरे दिन राजस्व व जल शक्ति मंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर ने हिमाचल प्रदेश में आपदा राहत मैनुअल (Disaster Relief Manual) को बदलने की घोषणा की। ताकि प्राकृतिक आपदाओं से होने वाले नुकसान की अधिक से अधिक भरपाई की जा सके। मंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर विधायक इंद्रदत्त लखनपाल, जगत सिंह नेगी और बिक्रम जरियाल द्वारा पूछे गए सवाल के जवाब में यह जानकारी दे रहे थे। प्रदेश के वन क्षेत्रों में लगने वाली आग और अन्य क्षेत्रों में वर्षा से हो रहे भूस्खलन और अन्य प्राकृतिक आपदाओं से फसलों व संपत्तियों को हो रहे नुकसान व बचाव व राहत के लिए दी जाने वाली धनराशि बढ़ाने को लेकर लाए गए प्रस्ताव पर हुई चर्चा के दौरान कही।

हिमाचल में इस मानसून में 685 करोड़ का नुकसान

हिमाचल विधानसभा में आज महेंद्र सिंह ने बताया कि इस वर्ष मानसून के दौरान सरकारी व निजी संपत्ति को 685.77 करोड़ रुपए का नुकसान हो चुका हैए जबकि 186 लोगों की मौत हुई है। इस दौरान 112 पशुओं की भी मौत हुई है। प्रदेश में 749 कच्चे और पक्के घर तथा गौशालाएं क्षतिग्रस्त हुई हैं। मौजूदा मानसून सीजन के दौरान राज्य में सड़कों और पुलों को 323 करोड़ रुपए, पेयजल और सिंचाई योजनाओं को 344.26 करोड़ रुपए और बिजली बोर्ड को 65 लाख रुपए का नुकसान हुआ है। वहीं प्रदेश में नुकसान की भरपाई के लिए सरकार ने एसडीआरएफ के तहत अभी तक 232.38 करोड़ रुपए विभिन्न विभागों को जारी किए हैं।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

 

 

 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है