Covid-19 Update

3,12, 188
मामले (हिमाचल)
3, 07, 820
मरीज ठीक हुए
4189
मौत
44,583,360
मामले (भारत)
622,055,597
मामले (दुनिया)

मानसून सत्रः शोकोद्गार से शुरुआत, काली पट्टी लगाकर पहुंचा विपक्ष दिया अविश्वास प्रस्ताव का नोटिस

आज सुबह 10 बजे विधानसभा अध्यक्ष विपिन सिंह परमार को अविश्वास प्रस्ताव सौंपा गया

मानसून सत्रः शोकोद्गार से शुरुआत, काली पट्टी लगाकर पहुंचा विपक्ष दिया अविश्वास प्रस्ताव का नोटिस

- Advertisement -

शिमला। हिमाचल प्रदेश विधानसभा का मानसून सत्र के पहले दिन कांग्रेस जयराम सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लेकर आई है। सुबह 10 बजे सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव सौंपा गया। सदन में सभी कांग्रेसी व माकपा विधायक काली पट्टी लगा कर आए हैं। नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री के नेतृत्व में आज सुबह 10 बजे विधानसभा अध्यक्ष विपिन सिंह परमार को अविश्वास प्रस्ताव सौंपा गया। उनके साथ सुखविंदर सिंह सुक्खू, रामलाल ठाकुर, आशा कुमारी व हर्षवर्धन चौहान भी थे। अविश्वास प्रस्ताव के पीछे तर्क है कि सरकार ने किसानों, बागवानों की उपेक्षा की, कर्मचारियों के आंदोलनों को गंभीरता से नहीं लिया जा रहा, बेरोजगारों को रोजगार देने के मामले में सरकार विफल रही है। पांच साल के सत्ता काल के दौरान हर वर्ग की उपेक्षा की, उनकी आवाज को अनसुना किया।

यह भी पढ़ें: सर्वदलीय बैठकः  विपिन परमार ने मांगा सहयोग तो मुकेश बोले आक्रामक तरीके से घेरेंगे सरकार को

विपक्षी कांग्रेस के तेवर देखते हुए तय हो गया है कि मानसून सत्र के पहले दिन जोरदार हंगामा होगा। सदन के बाहर भी सरकार के खिलाफ विपक्ष के तेवर तीखे रहेंगे। सदन के भीतर कांग्रेस की ओर से सरकार पर भ्रष्टाचार करने के आरोप मंत्रियों पर विशेष तौर पर केंद्रित रहेंगे। जाहिर है 68 सदस्‍यों वाली हिमाचल प्रदेश विधानसभा में भाजपा के 43 सदस्‍य हैं, जबकि दो निर्दलीय विधायकों का भी सरकार को समर्थन है। वहीं कांगेस के पास 22 विधायक हैं व एक सदस्‍य सीपीआइएम से हैं। सरकार पूरी तरह से बहुमत में है।

यह भी पढ़ें:हिमाचल: मानसून सत्र में बेरोजगारी, खस्ता सड़कों को लेकर पूछे गए ज्यादा सवाल, 19 बैठकें होंगी

सदन की कार्यवाही शुरूआत पूर्व केंद्रीय मंत्री सुखराम शर्मा, पूर्व विधायक रूप सिंह, मस्तराम और प्रवीण शर्मा के शोकोद्गार के साथ हुई। शोकोद्गार प्रस्ताव पर सीएम जयराम ठाकुर ने पूर्व केंद्रीय दूरसंचार मंत्री पंडित सुखराम शर्मा को दूरसंचार क्रांति का मसीहा बताया। उन्होंने कहा कि प्रदेश के विकास में उनका बड़ा योगदान रहा है। उन्होंने पूर्व विधायक रूप सिंह चौहान, मस्त राम शर्मा और प्रवीण शर्मा के निधन पर भी गहरा शोक व्यक्त किया।शोकोद्गार प्रस्ताव पर नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री, बागवानी मंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर, कांग्रेस विधायक सुखविंद्र सिंह सुक्खू, शहरी विकास मंत्री सुरेश भारद्वाज, रोहित ठाकुर, पंचायतीराज मंत्री वीरेंद्र कंवर, विनय कुमार, ववन मंत्री राकेश पठानिया, धनीराम शांडिल, राकेश सिंघा, राजीव बिंदल भी सदन में बोलें। इन्होंने भी चारों दिवंगत नेताओं को श्रद्धांजलि अर्पित की। इसके बाद सदन भोजनावकाश के लिए स्थगित किया गया है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

 

 

 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है